Narendra Mehta

    ठाणे: मीरा-भायंदर (Mira-Bhayander ) के बीजेपी (BJP) के पूर्व विधायक नरेन्द्र मेहता (Former MLA Narendra Mehta) और उनकी पत्नी (Wife) पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है क्योंकि ठाणे एंटी करप्शन ब्यूरो (Thane Anti Corruption Bureau) उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। वहीं, दूसरी तरफ गिरफ़्तारी पूर्व जमानत के लिए मेहता दंपति ने न्यायालय की शरण ली है। उनकी जमानत अर्जी पर 30 मई 2022 को सुनवाई होनी है। 

    एक एसीबी अधिकारी के अनुसार, उनकी टीम मेहता पर नजर रखे हैं और संभावित ठिकानों पर उनकी खोजबीन में लगी है, लेकिन उनका अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। एसीबी ने 19 मई 2022 को मेहता के खिलाफ आय से अधिक 8 करोड़ 25 लाख 51 हजार 773 की अधिक संपत्ति अर्जित करने और मेहता की पत्नी पर पति द्वारा पद का दुरुपयोग कर अवैध तरीके से कमाई संपत्ति का विनियोग कर पति को सहयोग करने के मामले में एसीबी अधिनियम 1988 की धारा 13(1) (इ ), 13(2) और आईपीसी की धारा 109 के तहत भायंदर के नवघर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया था। 

    तलाशी में मिले कीमती सामान

    मेहता कर उनकी पत्नी पर 1 जनवरी 2006 से 31 अगस्त 2015 के दौरान अर्जित संपत्ति को लेकर उक्त मामला है। मामला दर्ज होने के बाद एसीबी को मेहता के घर की तलाशी में एक लेम्बोर्गिनी कार, दो अन्य कार तथा 1.5 करोड़ रुपए के सोने और हीरे के आभूषण मिले हैं। कार का मूल्य साढ़े 3 करोड़ बताया गया है। ऐसे में मेहता के खिलाफ मामला बढ़ कर 13 करोड़ से अधिक का हुआ है।

    सीडी बेचने का काम किया था मेहता 

     प्राप्त जानकारी के अनुसार, लेम्बोर्गिनी कार मेहता ने अपनी पत्नी को गिफ्ट दी थी। एक अधिकारी के अनुसार मेहता के घर से कई अन्य संपत्ति के कागजात, कुछ बैंक खातों के कागज और लॉकर की जानकारी मिली है और उनकी तरफ से उसका मूल्यांकन जारी है। लोकायुक्त को मिली शिकायत के चलते वर्ष 2016 से एसीबी मेहता की जांच कर रही थी। सूत्रों और अधिकारियों के अनुसार राजस्थान के पाली जिले के मूल निवासी मेहता शुरुआती दौर में ऑटो रिक्शा चलाने के अलावा पटाखों, गरम मसालों तथा पाइरेटेड सीडी बेचने का काम किया था। मेहता बतौर नगरसेवक मीरा- भायंदर महानगरपालिका में वर्ष 2002 और 2007 में चुनाव जीते थे उसके बाद महापौर बने थे। वर्ष 2009 में विधानसभा चुनाव हारने वाले मेहता 2014 में विधायक बने थे, लेकिन  2019 के विधानसभा चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी गीता जैन से हार का सामना करना पड़ा था।