Street Lights Poles

    वर्धा. शहर सहित आसपड़ोस के क्षेत्र में सीमेंट मार्ग का निर्माण व सौंदर्यीकरण के कार्य किये जा रहे हैं, परंतु इन कामों की गुणवत्ता पर हमेशा ही सवाल उपस्थित हो रहे़ बावजूद इसके प्रशासन इस ओर अनदेखी कर रहा है़ सेवाग्राम मार्ग पर खड़े किये गए स्ट्रीट लाइट के कुछ खंभे इन दिनों एक ओर झुकते नजर आ रहे हैं. किसी दिन यह खंभे नीचे गिरकर अनहोनी का डर बना हुआ है़  इस ओर समय रहते संबंधित विभाग को गंभीरता से ध्यान देने की जरुरत है.

    बता दें कि शहर सहित आसपड़ोस के इलाकों में सीमेंट मार्ग का निर्माण किया गया है़ इन मार्गों पर स्ट्रीट लाइट के खंभे खड़े किए गए हैं. लाइट शुरू होने से मार्ग की शोभा बढ़ी है़, परंतु उक्त खंभे केवल चार नटबोल्ट के आधार पर खड़े किये जाते हैं. परिणामवश यह अधिक लंबे समय तक सुचारू तरीके से खड़े रहेंगे भी या नहीं, इसे लेकर सवाल उपस्थित हो रहा है.

    स्ट्रीट लाइट व हाईमास्ट गिरने की दो घटनाएं इसके पहले घट चुकी है़ हाल ही में पखवाड़े पहले सावंगी टी प्वाइंट पर विशाल हाईमास्ट का खंभा तेज हवा के कारण गिर गया था़ इस हादसे में जिला कृषि अधीक्षक व उनकी पत्नी बाल-बाल बची़ उनकी कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई थी़ इसके पहले 2021 में बारिश के मौसम में तूफान के कारण डा़ बाबासाहब आंबेडकर प्रतिमा परिसर स्थित स्ट्रीट लाइट का खंभा गिर गया था़  सौभाग्यवश इस दौरान भी अनहोनी टली.

    आंधी-तूफान में कभी भी ढह सकते हैं खंभे

    उल्लेखनीय है कि सेवाग्राम मार्ग पर सिविल परिसर में जिलाधिकारी, तहसील कार्यालय, जिला न्यायालय, पंचायत समिति सहित विविध सरकारी दफ्तर, महाविद्यालय, प्रशासकीय इमारत है़ फलस्वरुप यह मार्ग एक मिनट के लिए भी खाली नहीं रहता़ यहां हमेशा भीड़  लगी रहती है़  ऐसी स्थिति में पिछले कुछ दिनों से महात्मा गांधी प्रतिमा से सेवाग्राम की दिशा में डिवाइडर पर लगा स्ट्रीट लाइट का खंभा धीरे -धीरे एक ओर झुकते जा रहा है.

    दूसरी ओर जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष भी एक खंभा थोड़ा झुका हुआ है़  इन दिनों मौसम अपना रंग बदल रहा है़  कभी भी तेज हवा, अंधड़ चलने लगती है़  उक्त खंभे तूफान की चपेट में आकर किसी भी समय ढह सकते हैं. इससे बड़ी अनहोनी का डर बना हुआ है़ संबंधित विभाग इस ओर गंभीरता से ध्यान दें, ऐसी मांग नागरिक कर रहे हैं.