फिर गुलजार हुए शहर के मैदान; क्रिकेट, फुटबॉल टूर्नामेंट का मजा ले रहे दर्शक

    वर्धा. अधिकतर क्रीड़ा स्पर्धाएं बीते 2 वर्ष में हुई ही नहीं है. इसके पिछे कोरोना महामारी की वजह से सरकार की ओर से जारी पाबंदियां प्रमुख कारण रही. वहीं अब कोरोना परिस्थिति में काफी सुधार है़ ऐसे में प्रशासन ने सभी पाबंदियां हटाने से प्रैक्टिस से वंचित खिलाड़ी मैदान पर लौट गए है़ं प्रलंबित क्रीड़ा स्पर्धाएं शहर के विभिन्न मैदानों पर आयोजित की जा रही है, जिसमें क्रिकेट, फुटबॉल टूर्नामेंट का समावेश है़ खिलाड़ी भी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे है़ं  इस दौरान दर्शक स्पर्धां का मजा लेने मैदान में पहुंचने से फिर मैदान की रौनक लौट आयी है.

    शहर के क्रीड़ा संकुल, स्वावलंबी विद्यालय मैदान, आरटीओ मैदान, सर्कस ग्राउंड, न्यू इंग्लिश मैदान, बोरगांव, स्टेशनफैल स्थित मैदान में वर्षभर क्रिकेट, फुटबॉल जैसी स्पर्धाओं का आयोजन होता है़  स्पर्धाएं नहीं रहने पर मैदान पर खिलाड़ी नियमित रूप से प्रैक्टिस करने पहुंचते है़  किंतु पिछले वर्ष कोरोना की वजह से सरकार द्वारा जारी पाबंदियों के कारण खेल मैदान खाली पड़े हुए थे़  अब पाबंदियां हटने के कारण रद्द हुई स्पर्धाएं पुन: शुरू होने से इन दिनों मैदान भरे हुए दिखाई दे रहे है.

    मैदान किए जा रहे बुक

    प्रतिवर्ष शहर के क्रीडा मंडलों द्वारा सामाजिक संगठन, नेताओं की मदद से टुर्नामेंट का आयोजन किया जाता है़  जिसके माध्यम से स्थानिय खिलाडियों को अपना क्रीडा कौशल्य दिखाने अच्छा मंच मिलता है़  साथ ही खेल के माध्यम आपसी सलोखा बढाने के लिए भी विभिन्न एसोसिएशन्स, समाज द्वारा भी क्रीडा स्पर्धाएं आयोजित की जाती है़  किंतु, कोरोना की वजह से स्पर्धाएं प्रलंबित रह गई़  स्पर्धा के लिए अच्छा मौसम रहने के कारण इन दिनों आयोजक पहल कर रहे है़ एक के बाद एक टुर्नामेंट के लिए मैदान बुक किए जा रहे है.