Shambhuraj Desai

    • पालकमंत्री शंभूराज देसाई 
    • डायल 112 में वाशिम राज्य में अव्वल 

    वाशिम. बढ़ते अपराधों को अंकुश लगाने के साथ संकट में अथवा अड़चन की चपेट में आए व्यक्तियों को तत्काल सहायता करने के लिए आपातकालीन प्रतिसाद प्रणाली डायल 112 के माध्यम से पुलिस विभाग काम कर रहा है़  वाशिम जैसे छोटे जिले में डायल क्रमांक 112 के माध्यम से किए गए पुलिस के कार्य निश्चित रुप से सराहनीय है. जिले के आम जनता की मदद के लिए 24 घंटे कार्यरत रहकर आम आदमी की सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस कर्तव्य की भावना से निभाए.

    यह आहवान गृहराज्यमंत्री (ग्रामीण) तथा पालकमंत्री शंभूराज देसाई ने किया है. पालकमंत्री देसाई ने दूरदृश्य प्रणाली के माध्यम से पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जिला डायल 112 में राज्य में अव्वल आने से पुलिस अधीक्षक बच्चन सिंह से संवाद साधकर अभिनंदन किया. इस अवसर पर पालकमंत्री देसाई बोल रहे थे़ अमरावती परिक्षेत्र के विशेष पुलिस महानिरीक्षक चंद्रकिशोर मीणा, जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस., सहायक पुलिस अधीक्षक महक स्वामी व उप विभागीय पुलिस अधिकारी आदि उपस्थित थे.

    पालकमंत्री देसाई ने कहा कि, इस के पूर्व वाशिम भेंट दौरान डायल 112 क्रमांक का अनुभव उन्होंने लिया है. जिन व्यक्ति ने इस क्रमांक पर मदद मांगी थी़  उस व्यक्ति के मदद के लिए कुछ ही मिनटों में पुलिस पहुंचे़  उस व्यक्ति को संबंधित पुलिस थाने में लाकर सहयोग करने का उनको संबंधित व्यक्ति ने बताया है़  अत्यंत तत्परता व शीघ्रता से इस क्रमांक के माध्यम से मदद की जा रही है़  इस माध्यम से अच्छा काम करनेवाले अधिकारी व कर्मचारियों को प्रोत्साहन देना चाहिए. डायल 112 पर प्रतिसाद का समय 15 मिनट 48 सेकंद का है़  अब यह 10 मिनट पर लाने का पुलिस अधीक्षक का नियोजन सराहनीय है़ 

    प्रणाली से जनता को अधिक अपेक्षा  

    विशेष पुलिस महानिरीक्षक मीणा ने कहा कि, डायल 112 के प्रतिसाद प्रणाली से जनता को अधिक अपेक्षा है़  जिनको इस प्रणाली की मदद मिली है़  उन में से लोगो का समाधान हुआ इस का उनका अभिप्राय लेना आवश्यक है. 

    महिला संदर्भ में आनेवाली कॉल की तत्काल दखल ली जाएगी 

    जिला पुलिस अधीक्षक बच्चन सिंह ने डायल 112 की जानकारी दी़  जिन भागों से डायल 112 पर अधिक कॉल आते है. उन भागों के पुलिस थानों को अतिरिक्त वाहन दिए जाएंगे़  निर्भया वाहन जिले के पुलिस थानों को दिए गए है़  महिला संदर्भ में आनेवाली कॉल की तत्काल दखल ली जाएगी़  वाशिम जिला डायल 112 यह महाराष्ट्र आपातकालीन प्रतिसाद प्रणाली में राज्य में अव्वल रहा है. 16 सितंबर 2021 को वाशिम जिले में डायल 112 क्रमांक कार्यान्वित हुआ.

    यह प्रकल्प चलाते हुए पीड़ितों को कम से कम समय में मदद पहुंचाने में वाशिम जिला राज्य के सभी जिले और आयुक्तालय का विचार करते राज्य में प्रथम क्रमांक पर आया है. डायल 112 पर प्राप्त होनेवाली शिकायतों को प्रतिसाद देने के लिए 21 दुपहिया, 24 चार पहिया वाहन कार्यरत है. 6 पुलिस अधिकारी, 262 प्रतिसादकर्ता और 10 डिस्पॉचर ऐसा प्रशिक्षित कर्मचारी वर्ग इस कक्ष में कार्यरत है. एमडीटी द्वारा कॉल पूर्ण करने का वाशिम जिले का प्रमाण 99.64 प्रश है.

    डायल 112 पर प्राप्त होनेवाले शिकायतों में से सबसे अधिक शिकायतें महिला संबंधित मामले 808, जांच 511 और दुर्घटना 270 इस प्रकार से हुए है़  सबसे अधिक शिकायतें वाशिम शहर पुलिस थाने में 535, रिसोड 375, मालेगांव 322 और मंगरुलपीर 293 मिली है. इस अवसर पर डायल 112 कक्ष की सहायक पुलिस निरीक्षक मनीषा तायडे समेत कक्ष के पुलिस कर्मचारी व तांत्रिक कर्मचारी आदि उपस्थित थे. वाशिम जिला डायल 112 में राज्य में प्रथम क्रमांक पर आने से केक काटकर हर्ष मनाया गया़