अल्लामा शाला के कामकाज की जांच करें, अभिभावकों ने की शिक्षाधिकारी से शिकायत

    बाभुलगांव. बाभुलगांव स्थित डा.अल्लामा इकबाल उर्दू माध्यमिक शाला के संस्थाचालक, शिक्षकों द्वारा किए जा रहे मनमानी कामकाज की शिक्षा विभाग द्वारा विस्तृत जांच कर कारवाई करें, एैसी मांग अभिभावकों नें माध्यमिक शिक्षाधिकारी से करते हुए उन्हे शिकायत का ज्ञापन सौंपा.

    जिसमें कहा गया है की, डा.अल्लामा ईकबाल र्दू माध्यमिक शाला में कक्षा 8 वी से 10वीं तक शिक्षा दी जाती है.जिसमें हमारे युवा छात्र शिक्षा हासिल कर रहे है, लेकिन इस शाला में छात्राओं की सुरक्षा के लिए कोई महिला शिक्षक या मददगार तक नही है, कुछ दिनों पुर्व कक्षा 19 वी की छात्रा के पैरों में चोट पहूंचने के बाद उसकी सहेलीयों ने उसे अस्पताल पहूंचाया, लेकिन किसी शिक्षक ने छात्रा से अस्पताल जाकर साधारण पुछताछ और सहयोग तक नही कीया.

    इस छात्रा के साथ लावारीस जैसे बर्ताव किया गया.एैसा आरोप लगाते हुए शिक्षाधिकारी से की शिकायत में बताया गया है की इस शाला में कार्यरत सभी शिक्षक और कर्मचारी यवतमाल से अपडाऊन करते है, विशेषकर इनमें कुछ कर्मचारी संस्थाचालक के रिश्तेदार होने से वें महिने में एक  या दो बार शाला में आकर मस्टर पर पुरे माह की हाजीरी दस्तखत करते है, इससे संस्थाचालक  को इन कर्मचारीयों को काफी आर्थिक लाभ मिलता है, जिससे संस्थाचालक द्वारा इन कर्मचारीयों की करतुत पर नजरअंदाजी बरती जा रही है.

    इसके अलावा इस शाला के शिक्षा गुणवत्त पर भी सवाल उठाते हुए शिक्षाधिकारी को बताया गया की, छात्रों नें शाला में पढाई की गुण्वत्ता के बारे में अभिभावकों से शिकायत की है, जिससे कुछ वर्ष पुर्व शाला के शिक्षकों और संस्थाचालक समेत गुटविकास अधिकारी पंस.बाभुलगांव को अनेक बार मौखिक शिकायतें और सुचनाएं देने पर भी इसका कोई उपयोग नही हुआ.इस शाला में छात्रों का शिक्षा का नुकसान न हों, और संस्थाचालक, शिक्षकों के मनमानी कामकाज की उचित जांच की जाएं, एैसी मांग करते हुए अभिभावकों ने ज्ञापन पर दस्तखत कर इसे शिक्षाधिकारी को सौंपा.