युवक की जिलाधिकारी कार्यालय के टॉवर पर चढकर वीरूगिरी, प्रशासन में मचा हड़कंप

    यवतमाल. सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाकर उसे गरीब परिवारों को देने की मांग करते हुए आज यवतमाल जिलाधिकारी कार्यालय परिसर के टॉवर पर चढकर युवक ने विरुगिरी करते हुए अनोखा आंदोलन किया. इस आंदोलन के बाद कुछ समय के लिए प्रशासन में हडकम्प मचा हुआ था.टॉवर पर चढकर आंदोलन करनेवाले युवक का नाम श्याम गायकवाड है.

    वह दिग्रस तहसील के ईसापुर धरण गांव का निवासी है.आज 10 मई को उसने दिग्रस से यवतमाल पहूंचकर जिलाधिकारी कार्यालय का रुख किया,इसके बाद दोपहर में श्याम जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में स्थित टॉवर पर सभी की निगाहें बचाकर काफी उपर चढ गया,इस दौरान श्याम गायकवाड ने इस टॉवर पर विरुगीरी दिखाते हुए वहीं से नारेबाजी की.

    टॉवर पर चढ बैठे युवक की जानकारी मिलने पर प्रशासन में हडकम्प मच गया.इसके बाद उसे निचे उतारने के लिए प्रशासन और पुलिस अधिकारी, कर्मचारीयों कों काफी प्रयास करने पडे,जिसके बाद देर शाम श्याम गायकवाड निचे उतरा, जिससे पुलिस ने उसे अपने कब्जे में लेकर आगे की कारवाई शुरु की.

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक ईसापुर धरण गांव में सरकारी शाला और सरकारी जगह पर कुछ लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है, जिसकी शिकायत प्रशासन से करते हुए यह जमीन गांव के गरीब भुमिहीन परिवारों को देने की मांग प्रशासन से की गयी थी.लेकिन इस बारे में कोई कारवाई नही की गयी.जिससे श्याम गायकवाड इस युवक ने विरुगिरी दिखाकर प्रशासन का ध्यान खिंचने का प्रयास किया.

    निचे उतारने करनी पडी मनुहार

    टॉवर पर चढ चुके श्याम गायकवाड ने इस आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी के राह पर चलने की बात करते हुए आम नागरिकों के लिए क्या कानून नही बचा है,जैसी नारेबाजी की.साथ ही सरकारी जमीन का अतिक्रमण हटाकर इस जमीन को गरीब परिवारों को आवंटन करने की मांग की.युवक के जिलाधिकारी कार्यालय के टॉवर चढ जाने की भनक लगते ही प्रशासनिक अधिकारीयों ने मौके पर पहुंचकर मामले का जायजा लिया.इस समय निवासी जिलाधिकारी ललितकुमार वरहाडे भी वहां पहूंचे, साथ ही अनुचित घटना को टालने के लिए वहां पर पुलिस बल और दमकल दस्ते को भी बुलाया गया.

    इस समय निवासी उपजिलाधिकारी वरहाडे ने हैंड लाऊडस्पीकर लगाकर श्याम को जिलाधिकारी अमोल येडगे का कारवाई के संदर्भ में संदेश दिया,इस दौरान उसकी सभी मांगे मंजुर करने का आश्वासन उन्होने दिया, लेकिन जब तक जिलाधिकारी इस मामलें में ठोस कारवाई नही करते तब तक टॉवर पर ही बैठकर आंदोलन करने की चेतावणी प्रशासन को दी. इस दौरान युवक को निचे उतारने के लिए अधिकारीयों और पुलिस प्रशासन को कडा परिश्रम करते हुए उसकी मनुहार करनी पडी.

    पुर्व में भी आंदोलन करने से किया गया था नामजद

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक गांव में सरकारी जमिन पर अतिक्रमण हटाने और इसे भूमिहिन परिवारों को देने के लिए श्याम गायकवाड ने पहले भी इसी तरह दिग्रस शहर में सरकारी कार्यालय के टॉवर पर चढकर आंदोलन किया था, तब उसके खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया था,आज भी यवतमाल पहूंचकर उसने जिलाधिकारी कार्यालय के टॉवर पर चढकर विरुगिरी दिखाई. इस समय श्याम ने उसपर पुर्व में दर्ज मामला वापस लेने और ईसापुर की सरकारी अतिक्रमीत जमीन पर जिलाधिकारी द्वारा ठोस कारवाई करने की मांग करते हुए यह आंदोलन किया.