Navjot Singh Siddhu
ANI Photo

    अमृतसर. पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Elections 2022) को लेकर कई पार्टियों ने कमर कस ली और प्रचार में जुट गई हैं। इसी बीच शनिवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (President of Punjab Pradesh Congress Committee) ने राज्य में आगामी चुनावों में बेरोजगारी (Unemployment) सबसे बड़ा मुद्दा होने की बात कही है। साथ ही उन्होंने केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार से पाकिस्तान के साथ व्यापार फिर से शुरू करने का भी आग्रह किया।

    सिद्धू ने एक अमृतसर में प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए कहा, “इन चुनावों में रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा होने जा रहा है। मैं आपको गारंटी देता हूं कि थोड़े समय के भीतर हम आपको एक दृष्टि देंगे। सभी पुरुषों की आंखें हैं, कुछ के पास दृष्टि है।”

    पंजाब कांग्रेस प्रमुख ने भारत-पाकिस्तान व्यापार के बारे में बात करते हुए कहा कि, “दोनों देशों और इन 34 देशों के बीच व्यापार का दायरा 37 अरब डॉलर है। अभी हम केवल 3 अरब डॉलर का व्यापार कर रहे हैं, जो क्षमता का 5 प्रतिशत भी नहीं है।”

    उन्होंने कहा, “पंजाब को पिछले 34 महीनों में 4,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है और लगभग 15,000 नौकरियां चली गई हैं।” उन्होंने कहा, “मैंने पहले भी अनुरोध किया था, मैं एक बार फिर से अनुरोध कर रहा हूं कि व्यापार फिर से शुरू हो। इससे सभी को फायदा होगा।”

    गौरतलब है कि पंजाब में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं। कुछ महीने पहले पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने पार्टी छोड़ अपनी पार्टी बना ली है। वहीं कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनाया। कांग्रेस फिर से जनता का विश्वास जितने की कोशिश में हैं। कांग्रेस ने 2017 के पंजाब विधानसभा चुनावों में 117 में से 77 सीटें जीतकर राज्य में पूर्ण बहुमत हासिल किया और 10 साल बाद शिअद-भाजपा सरकार को बाहर का रास्ता दिखाया था।

    उधर, आम आदमी पार्टी बढ़िया प्रदर्शन करते हुए 20 सीटें जीतकर दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। शिरोमणि अकाली दल (SAD) केवल 15 सीटें जीतने में सफल रहा, जबकि भाजपा को मात्र 3 सीटें मिलीं थी।