kafeel-khan
File Photo

    Loading

    नयी दिल्ली/लखनऊ. एक बड़ी खबर के अनुसार 4 साल पहले गोरखपुर (Gorakhpur) के बीआरडी मेडिकल कॉलेज (BRD Medical College) में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत मामले में निलंबित चल रहे बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. कफील खान (Dr Kafeel Khan) को अब योगी सरकार ने बर्खास्त कर दिया है। इस बाबत स्वयं चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार ने उनके बर्खास्त किए जाने की पुष्टि भी की है। गौरतलब है कि कफील खान ने अपने निलंबन को हाईकोर्ट में भी चुनौती दी है। फिलहाल ये मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। इस बीच अब योगी सरकार ने उन्हें बर्खास्त कर दिया है।

    इस मामले में उत्तरप्रदेश चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार ने बताया कि जांच रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने डॉ. कफील को बर्खास्त कर दिया है। जल्द ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। दरअसल बीते अगस्त 2017 में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से कई मासूम बच्चों की मौत हो गई थी। इस दौरान स्थानीयमीडिया में डॉ। कफील खान को हीरो बना दिया था क्योंकि उन्होंने अपने स्तर पर कोशिश करते हुए कुछ ऑक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था भी की थी। 

    इसके बाद 22 अगस्त को सरकार ने उन्हें निलंबित भी कर दिया था। उन्हें प्रथम दृष्टया दोषी भी माना गया था। उनके खिलाफ इस प्रकरण में विभागीय जांच शुरू हो गई थी। वहीं ख़बरों की मानें तो सस्पेंशन के बाद डॉ. कफील को DGME के दफ्तर से अटैच कर दिया गया था। ये जांच रिपोर्ट लोक सेवा आयोग को भी भेजी गई थी, जिसके बाद आयोग ने उन्हें बर्खास्त कर दिया है ।

    बर्खास्तगी के खिलाफ भी कोर्ट जाएंगे डॉ. कफील

    इधर इस बर्खास्तगी की खबर पर डॉ. कफील ने खुद कहा कि निलंबन के मामले में कोर्ट ने उन्हें आगामी 7 दिसंबर को अगली तारीख दी है। फ़िलहाल उनके अनुसार अभी उन्हें बर्खास्तगी के संबंध में कोई भी लिखित जानकारी नहीं मिली है। साथ ही उन्हें कोर्ट पर पूरा भरोसा है और वे इस बर्खास्तगी के खिलाफ भी अब कोर्ट जाएंगे। फिलहाल योगी सारकार, डॉ कफील खान के खिलाफ लामबंद हो रही है।