बच्ची से ₹1.2 लाख के खरीदे 12 आम, ताकि ऑनलाइन क्लास के लिए खरीद सके मोबाइल

    झारखंड के जमशेदपुर की रहने वाली 11 वर्षीय तुलसी कुमारी का परिवार लॉकडाउन के चलते आर्थिक दिक्कतों से जूझ रहा था। पैसों की तंगी की वजह से वह ऑनलाइन पढ़ाई के लिए स्मार्टफोन खरीदने में असमर्थ थी। तुलसी परिवार का खर्च निकालने के लिए सड़क पर रेहड़ी लगाकर आम बेचने को मजबूर थी। इस बिच फरिश्ता बनकर आम बेचते लड़की को देख  Ameya Hete वहां पहुंचे। उन्होंने महज 12 आम 1 लाख 20 हजार रुपये में खरीद लिए।

    पिता के अकाउंट में भेजे पैसे 

    इंडिया टाइम्स के अनुसार, लड़की के पिता श्रीमल कुमार के अकाउंट में बुधवार को पैसे ट्रांसफर किए। Ameya को जब इस बात का पता चला कि आर्थिक दिक्कतों के कारण एक बच्ची को यह काम करना पड़ रहा है तो वो मदद के लिए आगे आए। उन्हें तुलसी कुमारी की कहानी लोकल मीडिया के द्वारा पता चली थी।

    कंपनी के एमडी हैं अमेया  

    बता दें कि Ameya खुद एक कंपनी के एमडी हैं। पांचवी क्लास में पढ़ने वाली तुलसी पढ़ाई में काफी होशियार हैं लेकिन फोन ना होने के कारण वो क्लासेज नहीं ले पा रही थी। कोरोना वायरस के बाद से ही उनके परिवार का काम धंधा ठप पड़ा है।

    कठिनाईओं भरा रहा है दौर

     कोरोना के बाद से ही ऑनलाइन क्लासेज जारी हैं। अब तुलसी क्लासेज कर सकती हैं। कुछ गांव में 3जी इंटरनेट सेवाएं नहीं हैं, कुछ बच्चे तुलसी कुमारी की तरह हैं जिनके पास फोन ही नहीं था। ऐसे में Ameya जैसे लोग भी सामने आए हैं। अगर आप भी किसी की मदद कर सकते हैं तो जरूर करें।