Boyfriend was sleeping in peace, girlfriend cut his private part with scissors

    बिहार : बिहार के नालंदा की एक खबर बीते दिन खूब सुर्खियों में बना हुआ था। जिसमें मणिशंकर अल्‍लामा इकबाल कॉलेज में मनीष नाम का एक इंटरमीडिएट के छात्र का एग्जाम का सेंटर बिहार शरीफ के ब्रिलियंट कान्‍वेंट में गया। इसके बाद जब छात्र परीक्षा देने के लिए वहां पहुंचा तो वो वहां लड़कियों की अधिक तादाद को देखकर घबराहट से बेहोश (Unconscious) हो गया था। 

    क्योंकि वह कॉलेज 500 लड़कियों का परीक्षा केंद्र था और वह मुख्य रूप से लड़कियों के लिए ही बनाया गया था। जिसके बाद छात्र के परिवार वालों ने आरोप लगाया था कि सरकार की गलती की वजह से छात्र पेपर नहीं दे पाया। जिसकी वजह से अब उसका साल बर्बाद हो जाएगा। हालांकि, अब इस मामले में एक अलग जानकारी सामने आई है। 

    जिसके मुताबिक मनीष के एडमिट कार्ड (Admit Card) में जेंडर के कॉलम में मेल की जगह फीमेल दर्ज था। इसी वजह से उसका एग्जाम का सेंटर लड़कियों के सेंटर में हो गया था। ऐसे में जब एक अकेला छात्र लड़कियों के एग्जाम सेंटर पर पहुंचा तो परीक्षा हॉल (Examination hall) में परीक्षक बार-बार उससे सवाल-जवाब कर रहे थे। आखिर लड़कियों के केंद्र पर वो वहां कैसे? जिसके बाद छात्र घबराकर बेहोश हो गया था और उसे हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया।