कोरोनाकाल में दुसरी बार किडनी ट्रान्सप्लांट, व्यक्ती के अंगदान से 4 लोगों की बची जान

  • सावंगी अस्पताल में हुआ ऑपरेशन

वर्धा. कोरोनाकाल में सावंगी(मेघे) स्थित आचार्य विनोबा भावे ग्रामीण अस्पताल में मरणोत्तर अंगदान से ट्रान्सप्लांट ऑपरेशन का कार्य निरंतर शुरू है़ इस वर्ष दुसरी बार किडणी प्रत्यारोपन ऑपरेशन बुधवार को किया गया़ नागपूर के मेडिट्रिना अस्पताल में ब्रेन स्ट्रोक के कारण भरती हुए 50 वर्षीय मरीज ने किए अंगदान से सावंगी अस्पताल में दाखील एक 43 वर्षीय व्यक्तीपर किडनी ट्रान्सप्लांट ऑपरेशन किया गया़ इस दौरान एक व्यक्ती ने किए मरणोत्तर अंगदान से चार लोगों को नया जीवन प्राप्त हुआ है.

बुटीबोरी समिपस्थ टाकलघाट निवासी फोटोग्राफर दिनेश सखाराम सोनवणे को ब्रेन स्ट्रोक के कारण मेडिट्रिना अस्पताल में दाखील किया गया था़  उनका ब्रेन पूर्णत: मृत होने की बात ईलाज करनेवाले चिकित्सकों के ज्ञान में आते ही जिसकी जानकारी परिवार के सदस्यों को दी गई़  उनपर अब ईलाज करना संभव नहीं यह बात पता चलने पर दिनेश की पत्नी सारिका, बेटा सुयश, बेटी मानसी व भतिजे सुयोग ने अंगदान करने का निर्णय लिया़  उनके परिजनों की अनुमती के बाद शरीर से अंग निकालने की प्रक्रीया पूर्ण हुई.

क्षेत्रीय अवयव प्रत्यारोपण समन्वय समिती की अनुमती से उक्त अंग विभिन्न अस्पतालों में प्रत्यारोपण के लिए सौंपे गए़  जिससे मुंबई के रिलायन्स अस्पताल में 44 वर्षीय मरीज पर हृदय ट्रान्सप्लांट तथा मेडिट्रीना अस्पताल के 67 वर्षीय मरीज पर लीव्हर ट्रान्सप्लांट किया गया़  उसी के साथ ही एक किडनी नागपूर के न्यू इरा अस्पताल में 33 वर्षीय मरीज के लिए तथा सावंगी अस्पताल में 43 वर्षीय मरीज के लिए भेजी गई़  दिनेश सोनवने के मरणोत्तर अंगदान से 4 व्यक्ती को नया जीवन प्राप्त हुआ है़  साथ ही नागपूर के माधन नेत्रपेढी में नेत्र ट्रान्सप्लांट के लिए दिनेश की आँखे सौंपी गई है.  

Savangi Hospital

टीम में थे यह डॉक्टर

सावंगी अस्पताल में डा़ संजय कोलते, डा़ अमित पसारी, डा़ अमोल बावणे, डा़ अभिजीत ढाले, डा़ जय धर्मशी, डा़ प्रसाद गुजर, डा़ निलेश गुरू, डा़ संज्योत निनावे, डा़ विवेक चकोले, डा़ नीता वर्मा, डा़ जुही जाधव, डा़ रोशनी माणिक, डा़ धनश्री वंजारी तथा सहयोगी वैद्यकीय टीम ने उक्त किडनी ट्रान्सप्लांट ऑपरेशन पूर्ण किया़  इस संपूर्ण प्रक्रिया में अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा़ अभ्युदय मेघे, समन्वयक डा़ रुपाली नाईक ने महत्वपूर्ण सहयोग किया़ सावंगी अस्पताल में जिवीत व मृत व्यक्तियों द्वारा प्राप्त हुए किडनीदान से अबतक 78 लोगों पर सफल किडनी ट्रान्सप्लांट किया गया है़  इस वर्ष यह तिसरा किडनी ट्रान्सप्लांट है़  अंगदान से दुसरा प्रत्यारोपण ऑपरेशन किया गया, ऐसी जानकारी जनसंपर्क अधिकारी संजय इंगले तिगावकर द्वारा दी गई.