Bangladesh is against extrajudicial killings: Prime Minister Sheikh Hasina
File

ढाका: बांग्लादेश (Bangladesh) की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) ने कहा है कि उनकी सरकार न्यायेतर हत्याओं के खिलाफ है और सैन्य तानाशाह (Military Dictator) जियाउर रहमान (Ziaur Rahman) द्वारा शुरू किए गए और उनकी पत्नी और पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया (Khaleda Zia) द्वारा ऐसे अपराधों के सिलसिले को संस्थागत रूप दिए जाने की प्रवृति को रोकने की कोशिश की है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह जानकारी सामने आयी है।

ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, हसीना ने बृहस्पतिवार को संसद में अपने भाषण के दौरान विपक्ष के उप नेता जी एम कादर द्वारा न्यायेतर हत्याओं का मामला उठाए जाने पर यह बयान दिया। उन्होंने कहा, ‘‘आप न्यायेतर हत्याओं के बारे में बता रहे हैं, लेकिन इसकी पहल किसने की थी?

यह जियाउर रहमान के कार्यकाल के दौरान शुरू हुआ था जब हमारे कई नेताओं और कार्यकर्ताओं के शव नहीं मिले थे और बाद में, इसे (न्यायेतर हत्या) संस्थागत रूप मिला (खालिदा जिया के कार्यकाल के दौरान)। हमने इसके क्रम को रोकने की कोशिश की।” उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी (न्यायेतर हत्याओं में शामिल) को भी नहीं बख्श रहे हैं और हम ऐसा कभी नहीं करते हैं।”

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार गलत काम करने वालों के खिलाफ उचित कदम उठा रही है। बुधवार को ढाका की एक अदालत ने 2014 में ढाका के मीरपुर इलाके में एक युवक की हिरासत में मौत के मामले में तीन पुलिसकर्मियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। प्रधानमंत्री ने देश की कानून प्रवर्तन एजेंसियों की भी उनके काम के लिए सराहना की। (एजेंसी)