Pablo Escobar: The drug mafia whose millions of rupees were eaten by termites every year

    नई दिल्ली: दुनिया के इतिहास में सबसे बड़े ड्रग डीलर के नाम से पहचाने जाने वाले पाब्लो एस्कोबार का जन्म आज यानि 1 दिसंबर को हुआ था। एस्कोबार को दुनिया का सबसे कामयाब और सबसे अमीर ड्रग्स माफिया माना जाता है। साल 1949 में जन्मे एस्कोबार एक बेहद गरीब किसान परिवार से तलूक रखते थे लेकिन दिमाग से तेज़ पाब्लो ने जुर्म की दुनिया में कदम रखते ही अपनी अलग ही पहचान बना ली और देखते ही देखते वो दुनिया का सबसे बड़ा ड्रग माफिया बन गया।

    नहीं थे इतने पैसे के भर सके फीस

    कहा जाता है कि, पाब्लो अपने माता पिता की तीसरी संतान था। उस दौरान उसके घर के हालात कुछ इस कदर थे कि, पढ़ाई का खर्च भी नहीं उठाया जा सकता था। होश संभालते ही पाब्लो ने ड्रग्स के धंदे में कदम रखा और बेशुमार दौलत कमाई। बताया जाता है कि, पाब्लो एस्कोबार 1970 के दशक में अवैध कारोबार में आया था और एक मशहूर माफिया बन गया। कहा जाता है कि, पाब्लो एस्कोबार के भाई रॉबर्टो एस्कोबार ने बताया था कि, पाब्लो के पास इतने पैसे आते थे कि, सिर्फ नोटों की गड्डियों को बांधने के लिए वह हर हफ्ते 1000 डॉलर का सिर्फ रबर बैंड खरीदा करता था।

    लाखों रुपये खा गई थी दीमक, जला दिए थे करोड़ों रुपये

    पाब्लो एस्कोबार के पास इतने पैसे थे कि, एक बार उसकी बेटी को ठंड न लगने अपने घर को गर्म रखने के चलते करीब 13 करोड़ रुपये से ज़्यादा जला दिए थे। पाब्लो के पास इतनी दौलत थी कि, उसने ख़ास तौर पर सिर्फ पैसे रखने के लिए गोदाम बनवाया था और जब ये गोदाम पैसों से भर गया था तो उसने गोदाम में बड़े-बड़े गड्ढे खुदवा दिए जिसमें पैसे भरे जाते थे। हद तो तब हो गई जब सालों तक रखे पैसों को नहीं छूने के चलते उसके कई लाख रुपये को दीमक खा गई थी लेकिन बावजूद इसके उसकी संपत्ति में कभी कमी नहीं आई।   

    लाइफ स्टाइल और तौर तरीकों पर बनी फ़िल्में

    पाब्लो एस्कोबार की लाइफ स्टाइल और ड्रग्स के धंधे के तरीकों को देख दुनिया की सुरक्षा एजंसियां हैरान थी। उसके शौक इतने महंगे थे कि वह अपने शौक पुरे करने के लिए पानी की तरह पैसा बहता था। उसके पास कई लग्जरी कार्स और दुनिया के कई देशों में आलीशान घर थे। पाब्लो एस्कोबार की ज़िंदगी पर कई फिल्में बन चुकी हैं और आज भी उस पर वेब सीरीज बनई जा रही हैं। कई कहानियों में पाब्लो एस्कोबार को अपने दौरे के दुनिया के सबसे अमीर शख्सियतों में दर्शाया जाता है। उसे कई कहानियों में अब तक का सबसे बड़ा ड्रग माफिया भी कहा जाता है। साल 1989 में प्रतिष्ठित फोर्ब्स पत्रिका ने पाब्लो एस्कोबार को दुनिया का सातवां सबसे अमीर व्यक्ति घोषित किया था। उस समय पाब्लो की अनुमानित व्यक्तिगत संपत्ति 25 बिलियन अमेरिकी डॉलर यानी आज के हिसाब से करीब 1825 अरब रुपये बताई गई थी। बताया जाता है कि, पाब्लो के पास 800 से ज्यादा मकान थे।

    अमेरिकी स्पेशल फोर्स और कोलंबिया की सेना ने विशेष साझा ऑपरेशन में मार गिराया था

    साल 1993 में अमेरिकी स्पेशल फोर्स और कोलंबिया की सेना ने साथ मिल कर एक बड़ा ऑपरेशन चलाया था। इसी ऑपरेशन में पाब्लो एस्कोबार को मार दिया गया था। पाब्लो की मौत उसके जन्मदिन यानी 1 दिसंबर से एक दिन बाद 2 दिसंबर को हुई थी। बताया जाता है कि, अपनी मौत से पहले पाब्लो ने पुलिस और सैनिकों को खूब छकाया था। पाब्लो ने कोलंबिया में भीषण आतंक मचा रखा था। किसी बड़े नेता या फिर शख्स की जान लेना उसके लिए मामूली बात थी। इसके चलते वह कई देशों की सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर भी आ गया था। कहा जाता है कि, पाब्लो का सपना था कि वह कोलंबिया का राष्ट्रपति बने।