imran

    इस्लामाबाद: पाकिस्तान की राजनीति में उठापटक मची हुई है। प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी खतरे में है। विपक्षी गठबंधन में इमरान सरकार के खिलाफ संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाया है। जिसपर कल यानी समोवार को मतदान होने वाला है। इसके पहले इमरान खान ने रविवार को राजधानी इस्लामाबाद के परेड ग्राउंड बड़ी रैली बुलाई है। जिसमे शामिल होने के लिए वह पहुंच चुके हैं। मीडिया में चल रही खबरों की माने तो रैली में कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद वह प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे देंगे।

    इमरान आखिरी बॉल तक खेलेगा रैली को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रशीद ने कहा कि, इमरान खान इतनी आसानी से हार नहीं मानेगे। वह आखिरी बॉल तक खेलेंगे। वहीं विदेश मंत्री शाह महमूद ने कहा कि, आज का दिन इमरान खान के लिए बेहद मुश्किल होने वाली है।

    मतदान के पहले शक्ति प्रदर्शन की कोशिश

    अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के पहले इमरान खान रैली कर अपनी शक्ति का प्रदर्शन करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने कई दिन पहले ही अपने कार्यकर्ताओं से राजधानी में जुटने का आवाहन किया है। इमरान के इस आवाहन का परिणाम भी रैली में दिखाई दे रहा है। हजारों की संख्या में लोग रैली स्थल पर मौजूद हैं।

    गठबंधन साथी ने छोड़ा साथ 

    अविश्वास प्रस्ताव के पहले इमरान खान को बड़ा झटका लगा है। बलूचिस्तान में पार्टी के सहयोगी जमूरि वतन पार्टी के प्रमुख और इमरान कैबिनेट के सदस्य सहजैन बुगती ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इमरान खान पर देश के अंदर कानून व्यवस्था नहीं बना रख पाने का आरोप लगते हुए विपक्षी गठबंधन में शामिल हो गए।

    बुगती ने ट्विटर पर लिखा, “पीटीआई सरकार ने तीन साल के दौरान कानून और व्यवस्था को सुधारने के लिए कुछ नहीं किया है। इस सरकार ने केवल पाकिस्तान के लोगों का अपमान किया है उन्हें शर्मिंदा किया है। इसी की वजह से मैंने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है। मैं पाकिस्तान और बलूचिस्तान के लोगों के हित और बेहतर भविष्य के लिए विपक्ष के साथ शामिल हो गया हूं।”