जिले में टीकाकरण ठप, वैक्सीन की कमी, अब सोमवार को होगी उपलब्ध

    यवतमाल. जिले में टीकों की कमी ने टीकाकरण पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है. शुक्रवार 9 जुलाई को कुछ ही केंद्रों पर टीके उपलब्ध थे, इसलिए पुन: टीकाकरण ठप हो गया. अब सोमवार, 12 जुलाई को वैक्सीन उपलब्ध होने की उम्मीद है. स्पष्ट है कि जिले के जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ प्रशासनिक अधिकारी भी पर्याप्त मात्रा में टीके उपलब्ध कराने में बुरी तरह विफल रहे हैं. अब तक 6 लाख 14 हजार से अधिक नागरिकों को टीका लगाया जा चुका है.

    मकर संक्रांति के मौके पर जिले में टीकाकरण शुरू हो गया है. कोविशील्ड, कोवैक्सीन चरणबद्ध तरीके से जिले को उपलब्ध हुई. टीकाकरण अक्सर अपर्याप्त टीकाकरण के कारण रुक जाता है. स्वास्थ्य विभाग बार-बार वैक्सीन की मांग कर चुका है, लेकिन जिले को पर्याप्त नहीं मिला है. 18 साल से अधिक उम्र वालों के लिए टीकाकरण अब शुरू हो गया है. तो ज्यादातर लोगों के लिए दूसरी खुराक की तारीख भी आ गई है, लेकिन वैक्सीन नहीं मिलने के कारण टीकाकरण नहीं हो सका.

    जिले को अब तक छह लाख 14 हजार 114 टीके मिले हैं, जिनमें पांच लाख 12 हजार 241 कोवशील्ड और एक लाख एक हजार 873 कोवैक्सीन शामिल हैं. चार लाख 88 हजार 143 लोगों को पहली और एक लाख 25 हजार 971 नागरिकों को दूसरी खुराक दी गई. इसी बीच शुक्रवार को 9 जुलाई को टीका समाप्त हो गई.

    इसके चलते टीकाकरण केंद्र ठप हो गया. केंद्र पर कई नागरिक आए, लेकिन बिना टीकाकरण कराए ही लौटना पड़ा. इस प्रकार प्रशासन के खिलाफ आक्रोश पैदा हो रहा है. जिले में फिलहाल कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है. इसलिए रविवार को उसी केंद्र पर जहां टीका उपलब्ध है, टीकाकरण किए जाने की संभावना है. इसलिए सोमवार स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि 12 जुलाई को टीका उपलब्ध होगा.

    शुक्रवार को सिर्फ 72 लोगों को डोज

    जिले में कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों के टीके उपलब्ध नहीं हैं. नतीजतन, शुक्रवार, 9 जुलाई को जिले के तीन केंद्रों पर ही टीकाकरण हुआ था. पहली खुराक 54 और दूसरी 18 थी. कुल 72 लोगों को टीका लगाया गया. बहुत से लोग वापस चले गए, क्योंकि टीका उपलब्ध नहीं था. अब यह स्पष्ट है कि रविवार को टीकाकरण नहीं होगा.