Sanjay kenekar

    औरंगाबाद. शहर में 31 मार्च से 9 अप्रैल तक लॉकडाउन (Lockdown) लगाने का निर्णय जिला प्रशासन (District Administration) ने लिया था। यह निर्णय जिला प्रशासन ने मंगलवार की देर रात रद्द करते हुए लॉकडाउन लगाने का निर्णय स्थगित किया। प्रशासन के इस निर्णय पर जिले के सांसद इम्तियाज जलील (MP Imtiaz Jalil) उनके समर्थकों (Supporters) ने रोजा बाग परिसर में सांसद जलील के मकान के सामने जश्न मनाया। इस जश्न पर शहर भाजपा (BJP) ने  विरोधजताते हुए सांसद इम्तियाज जलील और उनके समर्थकों पर शाम 7 बजे तक मामला करें, वरना भाजपा सड़क पर उतारेगी यह चेतावनी दी। 

    भाजपा शहराध्यक्ष संजय केणेकर (Sanjay kanekar) के नेतृत्व में भाजपा पदाधिकारियों ने बुधवार की दोपहर  सिटी चौक थाना के पीआई संभाजी पवार से मुलाकात कर  एक ज्ञापन सौंपा। भाजपाईयों ने पुलिस को बताया कि लॉकडाउन का हमने भी विरोध किया था। हमने पालकमंत्री को घेराव डालकर उनसे हर दिन काम कर पेट भरनेवालों के समक्ष आनेवाली समस्याओं से अवगत कराया था। उसके बाद प्रशासन ने लॉकडाउन रद्द किया। 

    सांसद जलील ने मास्क भी नहीं पहना था

    इसका श्रेय सांसद जलील ने लेने का प्रयास करते हुए मंगलवार की देर रात जिला प्रशासन ने लॉकडाउन रद्द करते ही अपने घर के सामने जश्न मनाया। जश्न में सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे। जश्न के दौरान सांसद जलील ने मास्क भी नहीं पहना था। यह सरासर कोविड के नियमों का उल्लघंन है। पुलिस प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लेकर सांसद जलील और उनके समर्थकों पर तत्काल अपराध दर्ज करने की मांग की। 

    …तो भाजपा सड़क पर उतरेगी

    केणेकर ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र सरकार और एमआईएम की मिलीभगत है। इसलिए जलील पर पुलिस ने मामला दर्ज करने में अनदेखी की। अंत में भाजपा ने चेताया कि शाम 7 बजे तक जलील पर मामला दर्ज नहीं हुआ तो भाजपा सड़क पर उतरेगी। ज्ञापन देते समय पूर्व महापौर भगवान घडामोडे, समीर राजूरकर, राज वानखेडे, राजू शिंदे, राजेश मेहता, शिवाजी दांडगे उपस्थित थे।