udhhav

     मुंबई: कांग्रेस (Congress) ने सोमवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ()से 30 जनवरी को ‘व्हाई आई किल्ड गांधी’ (मैंने गांधी को क्यों मारा) नामक फिल्म का प्रदर्शन रोकने की अपील की। पार्टी ने कहा कि इससे नस्लवादी मानसिकता मजबूत होगी। 

    उल्लेखनीय है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के सांसद और अभिनेता अमोल कोल्हे इस फिल्म में मुख्य भूमिका महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का किरदार निभा रहे हैं और इस फिल्म को 30 जनवरी को राष्ट्रपिता की पुण्यतिथि पर प्रदर्शित किया जाना है।

    गांधी जी की पुण्यतिथि अहिंता और शांति दिवस

    मुख्यमंत्री ठाकरे को लिखे पत्र में महाराष्ट्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि ‘‘व्हाई आई किल्ड गांधी”30 जनवरी को सिनेमाघरों और ओटीटी मंच पर प्रदर्शित की जाएगी, इस दिन महात्मा गांधी की पुण्यतिथि है जिसे पूरी दुनिया में सांप्रदायिक सौहार्द्र को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय एकता दिवस के तौर पर मनाया जाता है। 

    उन्होंने कहा, ‘‘एक ओर गांधी जी की पुण्यतिथि अहिंता और शांति दिवस के तौर पर मनाई जाएगी,वहीं दूसरी ओर ‘व्हाई आई किल्ड गांधी’रिलीज की जाएगी। यह नस्लवादी मानसिकता को ताकत देगी।”

    पटोले ने अपने पत्र में कहा, ‘‘भारतीय संस्कृति ने हमेशा अमानवीय कृत्य का विरोध किया। इसलिए इस फिल्म को राज्य के सिनेमाघरों और ओटीटी मंच पर प्रदर्शित नहीं किया जाना चाहिए।”  गौरतलब है कि महाराष्ट्र में ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाडी सरकार में कांग्रेस, शिवसेना और राकांपा के साथ साझेदार है।

     आलोचना का सामना करना पड़ा

    ‘व्हाई आई किल्ड गांधी’ में नाथूराम गोडसे की भूमिका निभाने पर कोल्हे को आलोचना का सामना करना पड़ा। हांलाकि, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने उनका समर्थन करते हुए कहा कि फिल्म को एक कलाकार के चुनाव के तौर पर देखा जाना चाहिए।