रजनीकांत: मैं कभी मुख्यमंत्री पद नहीं लूंगा

चेन्नई, आज चेन्नई में अभिनेता रजनीकांत यह कहते सुने गए कि उन्होंने कभी सपने में भी मुख्यमंत्री के पद के बारे में नहीं सोचा है न ही उनकी इसमें कोई आसक्ति है। उनका कहना था की वे बस केवल राजनीति में एक

चेन्नई, आज चेन्नई में अभिनेता रजनीकांत यह कहते सुने गए कि उन्होंने कभी सपने में भी मुख्यमंत्री के पद के बारे में नहीं सोचा है न ही उनकी इसमें कोई आसक्ति है। उनका कहना था की वे बस केवल राजनीति में एक अच्छा बदलाव लाना चाहते हैं। उनके अनुसार तमिलनाडु की राजनीति में दो ही दिग्गज थे, वह हैं जयललिता और करुणानिधि। इनके जाने से एक रिक्तता बन गयी है जिसको भरने के लिए अब एक आंदोलन की जरुरत है। 

अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर उन्होंने कहा कि वह एक ऐसी पारी बना रहे हैं जिसमे सरकार और पार्टी अलग-अलग अपने दायित्वों का निर्माण करेगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि वे खुद इसके नेता जरूर होंगे पर कभी मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे। रजनीकांत ने कहा कि यही नियम होगा कि जो नेता होगा वह सरकार का हिस्सा कभी नहीं बनेगा, फिर चाहे वह कोई भी हो। 
 

उन्होंने पुरजोर कहा कि तमिलनाडु की राजनीति में अब लोग बदलाव चाहते हैं और अब डीएमके और एआईएडीएमके से ऊपर उठने का वक़्त है। उन्होंने स्पर्श किया कि उनकी पार्टी ने पढ़े-लिखे युवाओं को मौका मिलेगा ताकि तमिलनाडु को नया और परिपक्व नेतृत्व मिल सके। उन्होंने यह भी कहा की उनकी पार्टी कभी सरकार पर हावी नहीं होगी। उनके अनुसार पार्टी की दो श्रेणियाँ होंगी, एक जो पार्टी का कार्य करेगी दुसरिदुश्री जो सरकार के गतिविधियों को सम्पादित करेगी।माना जा रहा है कि रजनीकांत जल्द ही राजनीतिक जीवन में प्रदार्पण करेंगे।