mamta

कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में नववर्ष (New Year) की पूर्व संध्या पर रात में कर्फ्यू (Night Curfew) नहीं लगेगा क्योंकि राज्य में हालात प्रतिकूल नहीं हैं। राज्य के शीर्ष अधिकारी ने इस बारे में बताया। पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय ने कहा कि राज्य सरकार हालांकि इस अवसर पर लोगों के जमावड़े को रोकने के लिए हर एहतियाती उपाय करेगी। बंदोपाध्याय ने कहा कि मौजूदा हालात ऐसे नहीं हैं कि रात का कर्फ्यू लगाया जाए।

उन्होंने बुधवार को कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल में कुछ जगहों पर नववर्ष के जश्न के लिए आयोजन किया जा रहा है। अगर लोग कोविड-19 के दिशानिर्देशों और सुरक्षा संबंधी नियमों का पालन करेंगे और पुलिस एवं प्रशासन को सहयोग करेंगे तो भीड़ से बचा जा सकता है।” कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को जरूरत पड़ने पर रात के कर्फ्यू जैसे स्थानीय प्रतिबंध लगाने की अनुमति दी है। कोलकाता में ब्रिटेन से लौटे एक यात्री में नए कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के बाद मुख्य सचिव ने लोगों को एहतियात बरतने और उन्हें मास्क पहनने तथा सामाजिक दूरी जैसे नियमों का पालन करने का अनुरोध किया।

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों को निश्चित रूप से पुलिस और प्रशासन के साथ सहयोग करना चाहिए। पार्क स्ट्रीट और विक्टोरिया मेमोरियल जैसी जगहों पर भीड़ उमड़ने की संभावना को देखते हुए विशेष सहायता केंद्र बनाए गए हैं।” कलकत्ता उच्च न्यायालय के निर्देश के अनुसार, नववर्ष की पूर्व संध्या पर भीड़ जमा होने से रोकने के लिए और कोविड-19 के नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कोलकाता पुलिस ने सभी कदम उठाए हैं।