IAF Father-Daughter Duo: air-commodore-sanjay-sharma-created-history-with-daughter-flying-officer-ananya-sharma

    नयी दिल्ली: बाप और बेटी (Father-daughter) का रिश्ता काफी अनोखा होता है। बेटियां पिता की लाड़ली होती हैं। कई लोग लड़कियों को ‘पापा की परी’ भी कहते है। लेकिन, एक पिता ही है, जो अपनी बेटी को परी की तरह रख सकता है। बाप और बेटी की जोड़ी अक्सर ऐसा कुछ कर दिखाती है, जिसके बारे में कभी किसी ने सोचा भी नहीं होगा। अब कर्नाटक के बीदर में बाप और बेटी की जोड़ी ने इतिहास रच दिया है। इस बाप-बेटी जोड़ी ने एक साथ फाइटर प्लेन उड़ाकर इतिहास रच दिया।

    भारतीय वायुसेना (India Air Force) के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है,जब किसी पिता ने अपनी बेटी के साथ मिलकर लड़ाकू विमान उड़ाया है।भारतीय वायुसेना में इतिहास रचने वाली इस बाप-बेटी की जोड़ी का नाम संजय शर्मा (Sanjay Sharma) और अनन्या शर्मा (Ananya Sharma) है। संजय शर्मा एयर कमांडर  और अनन्या फ्लाइंग ऑफिसर हैं। संजय ने अपनी बेटी अनन्या के साथ लड़ाकू हॉक-132 प्लेन उड़ाया है।

    फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या (Ananya Sharma) ने साल 2021 में भारतीय वायुसेना को ज्वाइन किया। वहीं, उनके पिता एयर कमोडोर संजय शर्मा साल 1989 में भारतीय वायुसेना के फाइटर स्ट्रीम में कमीशन हुए थे। उनके पास फाइटर ऑपरेशन का एक लंबा अनुभव है। उन्होंने Mig-21 स्क्वाड्रन की कमान भी संभाली है।

    संजय और अनन्या ने ये इतिहास 30 मई 2022 को रचा था। दोनों की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। दोनों ने बीदर एयरफोर्स स्टेशन पर Hawk-132 लड़ाकू विमान में उड़ान भरी थी। इस मिशन में एयर कमोडोर संजय शर्मा और फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या सिर्फ बाप -बेटी ही नहीं, बल्कि साथी भी थे।

    अनन्या (Ananya Sharma) ने बताया कि, उन्होंने बचपन से अपने पिता को भारतीय वायुसेना (IAF) में फाइटर पायलट के तौर पर देखा। बचपन से ही वायुसेना के माहौल में रहने के कारण अनन्या ने कभी दूसरे किसी प्रोफेशन के बारे में कभी नहीं सोचा। साल 2016 में IAF की पहली महिला फाइटर पायलट को देखने के बाद अनन्या ने अपना सपना पूरा करने का फैसला लिया।

    अनन्या ने अपना सपना पूरा करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन से बीटेक पूरा किया। इसके बाद अनन्या IAF के फ्लाइंग ब्रांच की ट्रेनिंग के लिए चुन ली गईं। वहीं, दिसंबर 2021 में फाइटर पायलट के तौर पर अनन्या ने वायुसेना ज्वाइन की।