New Education Policy 2020: 6% of GDP will be spent on education, the maximum limit for fees will be fixed

    नई दिल्ली:  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं तथा केंद्रीय मंत्रियों ने बुधवार को समाप्त हुई दो दिवसीय बैठक में नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर चर्चा की। सूत्रों ने यह जानकारी दी। इस बैठक का आयोजन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) द्वारा किया गया था।

    सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में आरएसएस का प्रतिनिधित्व इसके संयुक्त महासचिव कृष्ण गोपाल और अरुण कुमार, इसकी प्रचार शाखा के प्रमुख सुनील आंबेकर तथा अन्य ने किया। इसके अलावा विद्या भारती, भारतीय शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास, भारतीय शिक्षा मंडल सहित विभिन्न आरएसएस-संबद्ध संगठनों और एबीवीपी के नेता भी बैठक में शामिल हुए।

    सूत्रों के मुताबिक बैठक में भाजपा का प्रतिनिधित्व इसके समन्वयक वी सतीश, महासचिव सी टी रवि और संयुक्त महासचिव (संगठन) शिवप्रकाश ने किया। बैठक में नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर विशेष रूप से छात्र दृष्टिकोण से विस्तृत चर्चा की गई जिसमें आरएसएस की विचारधारा की ओर झुकाव रखने वाले विभिन्न शिक्षाविद भी उपस्थित थे।

    सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कैबिनेट में उनके सहयोगी राजीव चंद्रशेखर और जितेंद्र सिंह भी बैठक में मौजूद थे। बैठक में कौशल विकास और संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं पर भी चर्चा हुई।(एजेंसी )