Chakkajam on Pune-Bangalore highway, know what is the reason

    कोल्हापुर. किसानों (Farmers) के बिजली कनेक्शन काटने (Power Connection Cut) के विरोध में कोल्हापुर (Kolhapur) स्थित स्वाभिमानी किसान संगठन के अध्यक्ष राजू शेट्टी (Raju Shetty) के नेतृत्व में पुणे-बेंगलुरु राष्ट्रीय महामार्ग (Pune-Bangalore National Highway) पर चक्काजाम आंदोलन किया गया। इस आंदोलन में भाजपा (BJP) को छोड़ अन्य सभी दलों के कार्यकर्ता शामिल हुए। बिजली बिल वसूली के लिए महावितरण (Mahavitaran) बकाएदारों के कनेक्शन काट रही है। इसी वजह से यह आंदोलन किया गया। पंचगंगा नदी के पुल पर एक घंटे के लिए पुणे-बेंगलुरु महामार्ग के दोनों तरफ का ट्रैफिक बंद कर दिया गया। महामार्ग पर 25 किलोमीटर से अधिक वाहनों की लाइन लगी हुई थी। 

    इस आंदोलन में स्वाभिमानी किसान संगठन के साथ बिजली बिल विरोधी कृति समिति, राज्य इरीगेशन फेडरेशन, माकपा, जनता दल, किसान सभा, आप, जनस्वराज्य, शिवसेना, राष्ट्रवादी पार्टी, सेवानिवृत्त बिजली कर्मचारी संगठन समेत कई राजनीतिक पार्टी और किसान संगठन शामिल थे। 

    विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी को ज्ञापन दिया

    दोपहर 1 बजे कड़ी धूप में किए गए इस आंदोलन में विक्रांत पाटिल, किणीकर, प्रताप होगाडे, उदय नारकर, संजयबाबा घाटगे, प्रा. जालंदर पाटिल के साथ सर्वपक्षीय कार्यकर्ता शामिल हुए थे। इसके साथ ही सांगली-इसलामपुर रोड पर लक्ष्मी फाटा में भी स्वाभिमानी सेना के नेतृत्व में रास्ता रोको आंदोलन हुआ। उंब्रज में महावितरण के कार्यालय के बाहर पाटण-पंढरपुर राज्य मार्ग को रोक रखा था। इस आंदोलन में विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी को ज्ञापन दिया गया।