File Photo
File Photo

    सीमा कुमारी-

    हिन्दू धर्म में रंगों के त्यौहार ‘होली’ का विशेष  महत्व है, हालांकि भारतीय संस्कृति व परंपरा में हर त्यौहार का अपना एक अलग महत्व है। होली का यह पर्व दो दिनों तक मनाया जाता है। इस साल 28 मार्च को होलिका दहन और 29 मार्च को सुबह रंग वाली होली खेली जाएगी। 

    यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। वहीं जानकारों का मानना है कि होली का त्यौहार सिर्फ मौज- मस्ती का ही नहीं, बल्कि आध्यात्मिक उन्नति का भी उत्सव है। फाल्गुन पूर्णिमा की पावन तिथि और चैत्र मास का नया साल इसे और भी महत्वपूर्ण बना देता है। 

    ज्योतिष के अनुसार, होली में किए गए उपाय अधिक फलदायी होते हैं। इसलिए होली की रात को लोग अपने कार्य सिद्ध करने और मनोकामनाओं को पूरा करने के लिए कई तरह के उपाय करते हैं।

    चलिए जानते हैं वो कौन से उपाय हैं-

    * हत्था जोड़ी का प्रयोग तंत्र विद्या के लिए किया जाता है, जो बिल्कुल दिखने में धतूरे के पेड़ की तरह होती है। शनिवार के दिन इसे खरीदें और लाल कपड़े में बांधकर लॉकर के पास रखें। कहा जाता है ऐसा करने से धन में वृद्धि होती है। यदि शनिवार को ये करना संभव न हो तो मंगलवार को भी कर सकते हैं।

    * अगर आपकी कोई मनोकामना है, तो इस होली पर इस उपाय को करके अपनी मनोकामना पूरी कर सकते हैं। बस सच्चे हृदय और सद् विचार से मनोकामना हो।  

    पूजा के लिए हल्दी की गांठ, उपले, फल और सब्जी की माला बनाकर उसे धारण करें।  होलिका दहन से पहले होलिका की पूजा करें।

    * ज्योतिष के अनुसार, होली के दिन मोती शंख को साफ और पवित्र स्थान पर रखने से धन में वृद्धि होती है। कहते हैं, मोती शंख केवल आर्थिक रूप से मजबूत ही नहीं बनाता है, बल्कि कई रोगों से भी निजात दिला सकता है।

    * श्रीयंत्र में देवी लक्ष्मी सहित 33 कोटी दैवीय शक्तियां वास करती हैं। इस यंत्र को होली के दिन अपनी दुकान या घर के लॉकर में रखने से धन, वैभव की प्राप्ति हो सकती है।

    इन उपायों को करके आप अपनी मनोकामनाएं पूर्ण कर सकते हैं।