जम्मू-कश्मीर में सामने आया सबसे बड़ा भूमि घोटाला, करोडो की जमीन नेताओं ने अपनों को बांटी

जम्मू: जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से धारा 370 (Article 370) हटने के बाद इतिहास का सबसे बड़ा भूमि घोटाला (Property Scam) सामने आया है. जहां नेताओं और नौकरशाहों ने 25 हजार करोड़ की सरकारी जमीन को कौड़ियों के दाम पर बेच दी है. सामने आए इस घोटाले में पूर्व मंत्री समेत कांग्रेस(Congress), पीडीपी (PDP) समेत एनसी (NC) समेत कई बड़े नेताओं के नाम सामने आए हैं. 

दरअसल, 1999 जम्मू कश्मीर सरकार ने राज्य के ग़रीबों जमीन देने का निर्णय लिया गया था. सरकार ने इस अभियान को रौशनी एक्ट नाम दिया था. पिछले 20 सालों में हजारों हैक्टर जमीन लोगों को देने के लिए आवंटित किया गाय. इस प्रोजेक्ट का दूसरा मुख्य उद्देश्य इस जमीन से आने वाले पैसों से राज्य के अंदर बिजली उत्पादन करने के लिए पावर प्रोजेक्ट लगाया जाएगा.

कई बड़े नेताओं के आए नाम

जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट ने रोशनी एक्ट को निरस्त कर दिया था. जिसके बाद उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने मामले की जांच करने का आदेश दिया था. वर्तमान में सीबीआई इसकी जांच कर रही है. जांच में कई बड़े नेता और नौकरशाह के नाम सामने आए है. जिसके नाम सार्वजनिक करने आदेश कोर्ट ने दिया था.

यह नेता है शामिल   

इस घोटाले में पीडीपी नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व वित्त मंत्री हसीब दरबो के भी शामिल होने की पुष्टि हुई है. इसके अलावा उनकी रिश्तेदार शहजादा बानो, एजाज हुसैन और इफ्तिकार दरबो के नाम भी सामने आए हैं. इसके अलावा कांग्रेस नेता केके अमला पर भी इस घोटाले में शामिल होने की पुष्टि हुई हैं. अब इन सभी से वह जमीन वापस ली जाएगी.