शादी को टूटने से कैसे बचाएं?

-सीमा कुमारी
अक्सर हम अपने समाज में देखते हैं पति और पत्नी आपस में लड़ाई- झगड़ा करते हैं. ऐसा किसी एक के घर में नहीं बल्कि हर किसी के घर में होता रहता है. कुछ लोगों के जीवन में इतने टेंशन बढ़ जाते हैं की शादी को तोड़ने की बात हो जाती है जिसको “तलाक” कहते हैं. लेकिन उस समय पति और पत्नी को ये याद नहीं रहता है की शादी केवल दो स्त्री-पुरुष के बीच का संबंध नहीं है, बल्कि यह दो परिवारों का भी है. लेकिन आज स्त्री और पुरुष दोनों में सहनशीलता की कमी और गुरुर के कारण कई शादी कुछ समय में ही टूट जाते हैं. इससे दो परिवारों के बीच विवाद पैदा होते हैं और सामाजिक रूप से कई बार अपमानजनक स्थितियों का सामना करना पड़ता है. ज्योतिषिय दृष्टि से देखा जाए तो विवाह टूटने के कई कारण होते हैं. इनमें सबसे प्रमुख कारण स्त्री या पुरुष में से किसी एक को मंगल दोष होना. यही सब को देखते हुए आज हम लोग बात करेंगे की शादी को टूटने से कैसे बचाये ?

लोगों के सामने तारीफ करें:-
जब भी पार्टनर से बिवाद होता है तो अक्सर लोगों की ये आदत होती है कि जब आपस में रिश्ते बिगड़ने लगते हैं तो वो अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के सामने अपने पार्टनर की बुराई करना शुरू कर देते हैं. लेकिन आप इसकी जगह दूसरों के सामने अपने पार्टनर की खूबियां बताएं और उनकी तारीफ करें. आपने उनकी इन्हीं क्वालिटी को देखकर पूरा जीवन साथ बिताने का फैसला किया था. अब दूसरों के सामने उनकी छवि बिगाड़ने का काम न करें. नहीं तो आपका शादी टूटने में समय नहीं लगेगा.

पुरुष अपने कुलदेवता या कुलदेवी की नियमित पूजा करें :-
ऐसा माना जाता है की  परिवार टूटने के पीछे कहीं ना कहीं पितरों की असंतुष्टि होती है. इसके लिए  पुरुष को अपने कुलदेवता या कुलदेवी की नियमित पूजा करे. अपने पूर्वजों के निमित्त दान, तर्पण, पिंड दान करवाएं. खासकर अमावस्या के दिन पितरों के नाम से धूप देकर दान-पुण्य करें. ऐसा करने से आपके शादीशुदा जीवन में परेशानी नहीं आएगी.

शिव भगवान की पूजा करें :-
जिन स्त्रियों का विवाह संकट में हैं वे नियमित रूप से शिव की पूजा करें. स्त्रियां देवी पार्वती की नियमित पूजा करके उन्हें प्रत्येक गुरुवार को सुहाग की सामग्री भेंट करें.

अपनी उम्मीदें करें कम :-
आप अपनी उम्मीदों के लेवल को थोड़ा कम करें और उनका साथ दें. यदि झगड़ा या लड़ाई हुई है तो तलाक लेने की उम्मीद कम रखे. बल्कि एक दूसरे को समझने और समझाने का ज्यादा कोशिश करें.

रोमांस न हो कम :-
ज्यादातर लोगों के जीवन में ऐसा होता है की शादी के बाद जब वक्त बितने लगता है तो लोगों को अपना जीवन नीरस लगने लगता है. इसलिए आप अपनी शादीशुदा लाइफ से रोमांस कम न होने दें. एक दूसरे की तारीफ करें. रिश्ते की गर्माहट कई दिक्कतों को पार करने में मदद करती है.