File Photo
File Photo

    नई दिल्ली: एजबेस्टन टेस्ट (Edgbaston Test) में भारतीय टीम (Team India) को इंग्लैंड (IND vs ENG 5th Test) के हाथों करारी हार झेलनी पड़ी है। इस मैच के शुरूआती तीन दिन तक भारत बेहद शानदार फॉर्म में नज़र आ रही थी। लेकिन, फिर बैकफुट पर खेल रही इंग्लैंड ने शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए भारत टीम को 7 विकेट से करारी शिकस्त दी। वहीं, इंग्लिश टीम ने 378 रनों का टारगेट हासिल कर रिकॉर्ड भी दर्ज किया है, जबकि भारत की यह सबसे करारी शिकस्त में से एक है। 

    इस हार के बाद टीम इंडिया के कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने कहा कि, ‘हमारे पास इस टेस्ट मैच को जीतने का पूरा मौका था, लेकिन हम इसे भुना नहीं सके। दूसरी पारी में गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ही खराब रही हैं। हालांकि, हार के बाद मैं कोई बहाना नहीं बनाना चाहता।’ 

    द्रविड़ ने आगे कहा, ‘साउथ अफ्रीका के बाद एजबेस्टन में भी हमारे पास जीतने के काफी मौके थे, लेकिन हम उन मौकों को भुना नहीं पाए। जो टीम के साथ इस तरह की समस्या काफी बड़ी है, जिस पर ध्यान देने की जरूरत है। पिछले कुछ सालों में हम बेहतर रहे, लेकिन पिछले कुछ महीनों में हम जीत के मामले में पिछड़ रहे हैं। हमें जीत के प्रदर्शन को वापस लाने की ज़रूरत है। साथ ही खिलाड़ियों की फिटनेस का भी ख्याल रखना होगा। 

    वह आगे कहते हैं, ‘दूसरी पारी में हमारी बैटिंग और गेंदबाजी अच्छी नहीं रही। देखा जाए, तो पहली पारी में हमारी बैटिंग और बॉलिंग शानदार रही, लेकिन दूसरी पारी में हम इसे बरकरार नहीं रख पाए। हालांकि, हार पर मैं कोई बहाना नहीं बनाना चाहता। मगर मैं पिछले साल टीम का हिस्सा नहीं था। उस समय शायद इंग्लैंड टीम कुछ अलग थी। वह अभी न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार तीन जीत के साथ आई थी। जबकि हम काफी लंबे वक्त से टेस्ट क्रिकेट नहीं खेले थे। 

    कोच ने कहा, भारत ने काफी समय बाद यह टेस्ट मैच खेला, मगर हम इस हार को लेकर किसी तरह का कोई बहाना नहीं बनाना चाहते। इंग्लैंड टीम ने अच्छा खेल दिखाया है। हम अपने तीन दिन के अच्छे खेल को बरकरार नहीं रख सके। यही वजह है कि टेस्ट क्रिकेट काफी कठिन होता है, क्योंकि इसमें आपको पांच दिन तक अपने अच्छे खेल को बरकरार रखना पड़ता है, तभी जीत हासिल होती है।’

    बता दें कि, एजबेस्टन टेस्ट में भारत ने इंग्लैंड को जीत के लिए 378 रनों का लक्ष्य दिया था। जिसके जवाब में इंग्लैंड ने 3 विकेट गंवाकर 378 रन हासिल आकर लिए और मुकाबले में जीत दर्ज की। इंग्लैंड की दूसरी पारी में जो रूट ने नाबाद 142 और बेयरस्टो ने 114 रन पारी खेली। वहीं, भारत ने अपनी पहली पारी में 416 और दूसरी पारी में 245 रन बनाए थे। जबकि इंग्लैंड अपनी पहली पारी में केवल 284 रन ही बना सका था।