Yuvraj Singh

-विनय कुमार

‘सैयद मुश्ताक अली T20 ट्रॉफी’ (Syed Mushtaq Ali T20 Trophy) कोरोना महामारी के कारण घरेलू क्रिकेट (Domestic Cricket) पर लगा ग्रहण अब छंट रहा है। देश के सभी ‘राज्य क्रिकेट संघ’ टूर्नामेंट की तैयारी कर रहे हैं। यहां तक कि, अब कुछ राज्यों ने घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट्स के लिए अपनी टीमों की घोषणा भी कर दी है। टीम इंडिया के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह (all-rounder Yuvraj Singh) को ‘सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफ़ी’ के लिए पंजाब टीम से क्रिकेट में वापसी की उम्मीद थी। लेकिन, उनकी उम्मीदों पर तब पानी फिर गया, जब बीसीसीआई (BCCI) ने उनके नाम को नकार दिया। इसलिए अब एक बार फिर भारतीय क्रिकेट में लौटने का उनका सपना टूट गया।

पंजाब टीम में नहीं मिला माैका

इंटरनेशनल क्रिकेट (International Cricket Yuvraj Singh) से संन्यास ले चुके टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज़ युवराज सिंह ने ‘पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन’ (Punjab Cricket Association) के सचिव पुनीत बाली के सुझाव पर अपने राज्य के लिए खेलने का निर्णय लिया था। जिसके बाद ‘सैयद मुश्ताक अली T20 टूर्नामेंट’ के लिए उन्हें पंजाब के 30 खिलाड़ियों की टीम में शामिल भी किया गया। फिर उन्होंने पंजाब क्रिकेट स्टेडियम में प्रैक्टिस शुरू की। लेकिन अब खबर सामने आई है कई इस टूर्नामेंट में युवराज सिंह नहीं खेल पाएंगे, क्योंकि 20 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी गई है और उस टीम में उनका नाम शामिल नहीं है।

ऐसे में अब युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के लिए भारतीय क्रिकेट में वापसी की राह कठिन होती नज़र आ रही है। जब युवराज सिंह ने संन्यास लिया था तब उन्होंने कई लीग प्रतियोगिताओं में भाग लिया था। इसलिए अब युवराज BCCI के प्रावधानों के मुताबिक प्रतियोगिताओं के लिए पात्र नहीं रहे। यही कारण है कि ‘भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड’ (BCCI) ने ‘सैयद मुश्ताक अली T20 ट्रॉफी’ में खेलने की अर्जी नामंजूर कर दी है।

युवराज सिंह का करियर

‘सिक्सर किंग’ (Sixer King Yuvraj Singh) युवराज सिंह ने 2000 में केन्या (Kenya vs India ODI, 2000) के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Cricket Yuvraj Singh) में डेब्यू किया। अपने करियर में युवराज सिंह ने 304 एकदिवसीय मैच (ODI) खेले और 8701 रन बनाए। गेंदबाज़ी में भी जलवा दिखाया और 111 विकेट भी लिए। T20 क्रिकेट में उन्होंने 58 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले और 1177 रन बनाए और 28 विकेट भी झटके। टेस्ट क्रिकेट में भी उन्होंने 1900 रन बनाए। 40 टेस्ट मैचों में गेंदबाज़ के तौर पर उनके खाते में 9 विकेट हैं। जून 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ उन्होंने अपने करियर का आख़िरी वनडे ( ) मैच खेला।  और उसके बाद उन्हें टीम में जगह नहीं मिली। आखिरकार, 2 साल के इंतजार के बाद युवराज सिंह ने 2019 में क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था।  

पंजाब की 20 सदस्यीय टीम (Syed Mushtaq Ali T20 Trophy Team)

मनदीप सिंह (कप्तान), गुरकीरत सिंह (उप-कप्तान), रोहन मारवाहा, अभिनव शर्मा, प्रभासिमरण सिंह, अनमोलप्रीत सिंह, अनमोल मल्होत्रा, संजीव सिंह, संदीप शर्मा, करण कैला, मयंक मारकंडे, अभिषेक शर्मा, रमनदीप सिंह, सिद्धार्थ कौल, बरिन्दर बार , अर्शदीप सिंह, हरप्रीत बराड़, बलतेज ढांडा, कृष्णा और गीतांश खेर।