नदी, नालों में बाढ़, अभी भी स्थिति नहीं सुधरी; जिले के अनेक रास्ते बंद

    अकोला. पिछले कुछ दिनों से शुरू बारिश के कारण जिले के अनेक क्षेत्रों में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. अभी भी कई रास्तें नदियों में बाढ़ आने के कारण बंद हो गए हैं. पूर्णा नदी में बाढ़ के कारण गांधीग्राम में पूर्णा नदी के पुल पर से पानी जा रहा है. इस कारण अभी भी अकोला-अकोट रास्ता बंद है. पूर्णा नदी में बाढ़ के कारण ही अकोला-म्हैसांग मार्ग भी बंद है.

    इसी तरह जिले के अन्य कई छोटे-छोटे रास्तें फिलहाल बंद होने की जानकारी मिली है. तेल्हारा से वरवट बकाल होते हुए शेगांव रास्ता बंद है. इसी प्रकार अकोट-शेगांव रास्ता भी प्रभावित होने की जानकारी मिली है. अनेक क्षेत्रों में अभी भी रुक रुक कर बारिश हो रही है. थोड़ी देर के लिए धूप निकलती है और फिर बारिश शुरू हो जाती है. 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार मुर्तिजापुर तहसील में पिछले दो दिनों में हुई अत्यधिक बारिश के कारण तहसील के नदी, नालों में बाढ़ की स्थिति है. कार्ली और धामोरी गांव में नालों में बाढ़ आ जाने के कारण इन गांवों से करीब दो दिनों तक संपर्क टूट गया था. इन गांवों के साथ साथ अन्य कुछ गांवों की भी यही स्थिति है. मुर्तिजापुर तहसील में पूर्णा, कमलगंगा, उमा और काटेपूर्णा नदी के साथ साथ अनेक नालों में बाढ़ की स्थिति होने के कारण अनेक गांवों से कुछ समय के लिए संपर्क टूट गया था.

    इसी तरह अनेक गांवों में किसानों के खेतों में पानी भर जाने के कारण फसलों का भी काफी नुकसान होने की जानकारी मिली है. इसी प्रकरण बालापुर तहसील में लोहारा में मन नदी पर पुल का काम निर्माणाधीन है. इस कारण कवठा बांध के सभी दरवाजे खोल दिए हैं. इसी प्रकार शिर्ला में बांध पूरा भर गया है. इसी प्रकार कवठा, बहादुरा, निंबी गांव के लोगों को सतर्क रहने की सूचना दी गई है. 

    सभी तहसीलों में यही स्थिति

    अकोट तहसील में शुरू लगातार बारिश के कारण नदी, नालों में बाढ़ आ गई है. यहां भी बादल फटने के समान बारिश होने की जानकारी मिली है. अकोट शहर में भी अनेक बस्तियों में पानी भर गया है. शहर की सड़कों से बारिश के पानी की निकासी ना होने के कारण स्थिति बिगड़ गई है. रौंदला में अत्यधिक बारिश होने के कारण अनेक लोगों के घरों के अंदर बारिश का पानी भर गया है. यहां भी लोगों को अत्यधिक बारिश के कारण काफी तकलीफ हो रही है.

    तेल्हारा तहसील में भी सभी नदी, नालों का जलस्तर बढ़ गया है. विद्रुपा नदी में बाढ़ के कारण पंचगव्हाण से अनेक गांवों में जाने के रास्ते प्रभावित हुए हैं. इसी प्रकार नदी के किनारे स्थित अनेक खेतों में पानी भर जाने के कारण फसलों का नुकसान हुआ है. बार्शीटाकली में अत्यधिक बारिश के कारण किसानों का नुकसान हुआ है.

    शहर की स्थिति भी खराब

    मंगलवार की रात तथा बुधवार की सुबह हुई बारिश के कारण शहर के अनेक चौराहों में पानी जमा हो गया है. इसी प्रकार अनेक मुख्य मार्गो के साथ साथ छोटी छोटी सड़कों पर पानी भर जाने के कारण लोगों को आवागमन में आज दिन भर तकलीफ हुई है. अभी भी अनेक स्थानों पर, सड़कों पर पानी भरा हुआ देखा जा सकता है.