crime

    अमरावती. नवदुर्गोत्सव के कड़े पुलिस बंदोबस्त के बीच सिटी कोतवाली थाने से कुछ दूरी पर जयस्तंभ परिसर स्थित 2 बडे मोबाइल शोरूम में चोरों ने सेंध लगाकर ब्रांडेड कंपनियों के महंगे मोबाइल सहित 23 लाख का माल उड़ाया. पुलिस के नाक के नीचे दुस्साहसी चोरी को अंजाम देकर चोरों ने पुलिस को चुनौती दी है. सिटी कोतवाली व क्राइम ब्रांच की अलग-अलग टीम आरोपियों की तलाश में जुट गई है.

    एक भीतर घुसा, बाकी चादर ओढे करते रहे पहरेदारी

    24 घंटे पुलिस पेट्रोलिंग से घिरे रहने वाले जयस्तंभ चौक स्थित बकूल एंटरप्राइजेस द्वारा संचालित सैमसंग स्मार्ट कैफे तथा उसके निकट आरके टेलीकाम एण्ड मोबाइल शापी में गुरुवार तड़के 4.15 बजे 3 से 4 आरोपियों ने सेंध लगाकर लाखों के ब्रांडेड कंपनियों के मोबाइल उड़ा लिये. चोरों ने सबसे पहले बकूल एंटर प्राइजेस शोरूम के ताले तोड़कर भीतर प्रवेश किया. चोरों ने शरीर पर चादर ओढ़कर शटर के पास सोने का बहाना करके ताले तोड़ दिये.

    जिसके बाद 1 आरोपी भीतर चला गया, जबकि अन्य आरोपी शोरूम के शटर के पास चादर बिछ़ाकर सोने का नाटक कर पहरेदारी करते रहे. यहां डिब्बे से महंगे 33 से अधिक मोबाइल को निकालकर बड़ी थैली में भरकर ले गए. यह सभी मोबाइल सैमसंग कंपनी के थे. जिसके बाद चोरों ने पडोस में स्थित आरके मोबाइल शापी में भी इसी तरह से ताले तोड़कर चोरी को अंजाम दिया. यहां से अलग-अलग कंपनियों के 7 से 8 लाख रुपए के मोबाइल उड़ा लिये.

    सीसीटीवी कैमरा में कैद

    गुरुवार की सुबह बकूल के संचालक बकूलभाई डायाभाई ककड (64, मांगीलाल प्लाट) व आर.के.टेलीकाम के योगेश राजकुमार रतनानी शोरुम खोलने आये तो उन्हें चोरियों की जानकारी लगी. सूचना पर सिटी कोतवाली पुलिस वहां पहुंची. एसीपी भरत गायकवाड, थानेदार निलीमा आरज, क्राइम ब्रांच पीआय अर्जुन ठोसरे दल बल के साथ पहुंचे.

    यहां प्रिंगर प्रिंट एक्सपर्ट व श्वान दल को बुलाया गया. पुलिस ने परिसर में लगे सीसीटीवी कैमेरा जांच किये, जिसमें 3 से 4 संदिग्ध लोग नजर आये. आरोपी तडके सुबह 4.15 से 5 बजे के बीच इन शोरूम में चोरियों को अंजाम देते नजर आ रहे है. इन फुटेज के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है.

    बाहरी राज्य के होने का संदेह

    वर्ष 2011 में भी इसी तरह बकूल एंटरप्राइजेस में सेंध लगाकर चोरों ने साढे 5 लाख के मोबाइल चुराये थे, उस समय तत्कालीन सीपी अमितेशकुमार के मार्गदर्शन में पुलिस ने बिहार के एक आरोपी को गिरफ्तार किया था. जिससे पूरे मोबाइल जब्त किए थे. 10 वर्ष बाद फिर इसी मोबाइल शोरूम में चोरों ने दुस्साहसी चोरी अंजाम दी है. पुलिस का अनुमान है कि चोर बाहरी जिले या राज्य के हो सकते है. जिसके आधार पर कुछ अहम जानकारी पुलिस के हाथ लगी है. पुलिस इस दिशा में जांच कर रही है.