मतदान केंद्रों पर हो रैम्प, कोरोना संबंधी उपाय योजना, ग्रापं चुनाव को लेकर जिलाधीश ने दिए निर्देश

अमरावती. जिले में अगले माह होनेवाले ग्राम पंचायत चुनाव को लेकर जिला चुनाव अधिकारी तथा जिलाधिकारी शैलेश नवाल ने शनिवार को तैयारियों का जायजा लिया, जिसमें उन्होंने मतदान केंद्र तत्काल निश्चित कर सूची प्रस्तुत करने के निर्देश दिए. प्रत्येक केंद्र पर रैम्प, पेयजल, बिजली, स्वास्थ्य दल, प्रसाधन गृह आदि समेत कोरोना संक्रमण को लेकर आवश्यक उपाय योजना संबंधी आवश्यक सतर्कता सामग्री उपलब्ध कराने की सूचना चुनाव प्रशासन को दी.

बैठक में अतिरिक्त जिलाधिकारी रामदास सिद्धभट्टी, निवासी उपजिलाधिकारी डा. नितीन व्यवहारे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. दिलीप रणमले, उपविभागीय अधिकारी संदीप अपार, उदयसिंह राजपुत,  उपजिलाधिकारी मनोज लोणारकर, मनीष गायकवाड, राम लंके, तहसीलदार अभिजित जगताप, किशोर गावंडे, धीरज स्थुल, राजेंद्र इंगले, अतुल पाटोले, संतोष काकडे, योगेश देशमुख, वैभव फरतारे, नीता लबडे, माया माने, जीएम संगारे आदि उपस्थित थे.

संवेदनशील केंद्रों की सूची दे

निर्वाचन निर्णय अधिकारी, ज़ोन संख्या, क्षेत्रीय अधिकारी, मतदान केंद्र अध्यक्ष और मतदान अधिकारी आदि तय कर जिला निर्वाचन प्रशासन को सूचित करे. वोटिंग मशीनों आदि के परिवहन के लिए आवश्यक बसें, जीप, ट्रकों आदि की मांग तत्काल दर्ज करें. मतदान केंद्रों की संख्या के अनुसार, पुलिस सुरक्षा का प्रारुप, मतगणना के लिए एक बंदोबस्त आदि प्रस्तुत करें. संवेदनशील क्षेत्रों में भी पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने की आवश्यकता है, जिसके लिए संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की सूची प्रस्तुत करने के निर्देश भी उन्होंने दिए.                      

इवीएम की डिमांड दर्ज

नवाल ने आगे कहा कि चुनावों के लिए 10 प्रतिशत वृद्धि देखते हुए, 1,823 प्रभागों के लिए 2,110 मतदान केंद्रों की संख्या को देखते हुए, चुनाव आयोग के पास आवश्यक वोटिंग मशीन की मांग दर्ज की गई है. रिटर्निंग ऑफिसर, मतदान केंद्राध्यक्ष, मतदान अधिकारी आदि का प्रशिक्षण निर्धारित समय के भीतर पूर्ण करने के साथ ईवीएम को लेकर प्रशिक्षण और मतदाता जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश भी उन्होंने दिए. कोरोना प्रतिबंधक उपाय योजना के तहत हर तहसील कार्यालय में मतदान के दिन तक शिविर आयोजित कर सभी संबंधितों की जांच करना आवश्यक है. उसके अनुसार कार्रवाई करने का आदेश भी जारी किए गए्.

चुनाव पर्यवेक्षकों की नियुक्ति

चुनाव प्रक्रिया की देखरेख के लिए आयोग ने डिप्टी कलेक्टर कैडर के अधिकारियों को चुनाव पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त किया है. यह आदेश संभागीय आयुक्त पीयूष सिंह ने जारी किए है. अमरावती तहसील के लिए उपजिलाधिकारी मनीष गायकवाड, भातकुली व तिवसा के लिए उपविभागीय अधिकारी इब्राहिम चौधरी, चांदूर रेलवे, धामणगांव रेलवे व नांदगाव खंडेश्वर के लिए उपजिलाधिकारी मनोज लोणारकर, दर्यापुर व अंजनगांव के लिए उपविभागीय अधिकारी नरेंद्र फुलझेले, अचलपूर व चांदूर बाजार के लिए धारणी उपविभागीय अधिकारी मिताली सेठी, मोर्शी व वरूड के लिए उपविभागीय अधिकारी संदीप अपार, धारणी व चिखलदरा के लिए उपजिलाधिकारी राम लंके आदि की चुनाव निरीक्षक के रुप में नियुक्ति की गई है. चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद से 30 दिनों में उमेदवारों को चुनावी खर्च का हिसाब चुनाव अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करना अनिवार्य है. यांच्याकडे सादर करणे आवश्यक आहे. इस संबंध में कड़ी कार्रवाई की सूचना सिद्धभट्टी ने दी.