Dengue
File Photo

Loading

अमरावती. अभी बारिश का मौसम शुरू है. इसके साथ ही पानी से संबंधित बीमारियां दस्तक दे रही हैं. मच्छरों के कारण डेंगू और मलेरिया ने दस्तक देना शुरू कर दिया है. वर्तमान में शहर में संबंधित बीमारी से ग्रसित मरीज पाए गए हैं. मनपा की ओर से इस बारे में ठोस उपाययोजना करने की जरूरत है. मच्छरों को नियंत्रित करने के लिए जरूरी उपाय योजना करने की अपील नागरिकों की ओर से की गई है.

रोजाना अस्पतालों में पहुंच रहे मरीज

वर्तमान में रोजाना निजी व सरकारी अस्पतालों में डेंगू व मलेरिया के मरीज आ रहे हैं. मच्छरों के कारण डेंगू, मलेरिया के मरीज मिल रहे हैं. डेंगू के लक्षणों में तेज बुखार, आंख और सिरदर्द, शरीर में दर्द, कमजोर, मुंह सुखना, उल्टी, हिचकी, निचले अंगों में खुजली, भूख नहीं लगना और जी मिचलना शामिल है. मलेरिया के लक्षणों में ठंड लगना, रुक-रुक कर बुखार, सिरदर्द, मतली, उल्टी, पेट में दर्द, दसत, दस्त, कंधे में दर्द, शरीर में दर्द शामिल हैं. डाक्टरों ने इन लक्षणों के पाते ही तत्काल डाक्टर से संपर्क कर आवश्यक उपचार कराने की अपील नागरिकों से की है.

पोषक आहार से जुड़ी बीमारियां भी दे रहीं दस्तक

क्षेत्र में अनेक जरूरतमंद-गरीब लोग वास्तव्य करते हैं. दिन-ब-दिन मौसम में बदलाव एवं खाने पीने में आवश्यक प्रोटीन के अभाव के चलते अनेक जानलेवा बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं. शहर व तहसील में उचित पोषक आहार नहीं मिल पाने के कारण इसके कारण होने वाली बीमारियां बढ़ती जा रही हैं. कई परिवारों की आर्थिक स्थिति गंभीर होने के कारण वे उचित इलाज नहीं कर पाते हैं. साथ ही रोजाना आवश्क पोषक आहार नहीं ले पाते हैं. इस कारण वे मौत के मुंह मे समा जाते हैं.

लोगों का कहना है कि जनप्रतिनिधियों को इस ओर ध्यान देकर क्षेत्र के सरकारी अस्पतालों में आवश्यक मात्रा में दवाओं की आपूर्ति एवं तहसील के शहरी एवं ग्रामीण अस्पतालों में चिकित्सक एवं कर्मचारियों के मंजूर पद भरने की दिशा में कार्यवाही करनी चाहिए. इसके अलावा वर्ष में 2-3 बार विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए शिविरों का आयोजन कर मुफ्त में दवाओं का वितरण करना चाहिए. इससे नागरिकों का स्वास्थ्य ठीक रहेगा. यदि कोई गंभीर बीमारी होने पर वे समय पर इलाज करा पाएंगे.