आषाढ़ी एकादशी से चार दिन गैप देकर मिलेगा औरंगाबाद वासियों को पानी

    औरंगाबाद : आषाढ़ी एकादशी (Ashadhi Ekadashi) से शहर के नागरिकों को पेयजल आपूर्ति (Drinking Water Supply) की समस्याओं से बड़े पैमाने पर राहत देने का निर्णय महानगरपालिका प्रशासक और कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय (Aastik Kumar Pandey) ने लिया है। जिसके चलते शहर वासियों को 10 जुलाई से चार दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति होगी। इन दिनों शहर के कुछ इलाकों में 5 से 6 दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति जारी है। प्रशासक पांडेय के इस निर्णय से औरंगाबाद वासियों (Residents of Aurangabad) को बड़े पैमाने पर पेयजल समस्या से राहत मिलेंगी। 

    42 सूत्री उपायों को लागू करने का निर्णय लिया

    ग्रीष्मकालीन मौसम के अप्रैल और मई महीने में शहर में पेयजल आपूर्ति की गंभिर समस्याएं निर्माण हुई थी। शहर के कई इलाकों को 6 से 7 दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति हो रही थी। बल्कि, कुछ इलाकों में 8 से 9 दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति हो रही थी। जिससे नागरिकों में महानगरपालिका प्रशासन के खिलाफ काफी रोष था। कुछ इलाकों के नागरिकों ने सड़कों पर उतर कर प्रशासन के खिलाफ आंदोलन किया था। बीजेपी द्वारा पेयजल समस्या को लेकर निकाले गए जलआक्रोश मोर्च के बाद शिवसेना-बीजेपी में राजनीति गरमा गई थी। इसी दरमियान शहरवासियों को पेयजल आपूर्ति की समस्याओं से राहत पहुंचाने के लिए महानगरपालिका कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय ने 42 सूत्री उपायों को लागू करने का निर्णय लिया था। उसके अनुसार बीते दो महीने से विविध कार्य जारी थे। पांडेय ने शहर के पेयजल आपूर्ति को लेकर जायजा बैठक ली। बैठक में अतिरिक्त आयुक्त बीबी नेमाने, पेयजल आपूर्ति के कार्यकारी अभियंता एमबी काजी, समन्वयक हेमंत कोल्हें, उपसंचालक नगर रचना एबी देशमुख, उपायुक्त अपर्णा थेटे, नंदा गायकवाड, मुख्य लेखाधिकारी संतोष वाहुले, एमजेपी के कार्यकारी अभियंता अजय सिंह उपस्थित थे। 

    पेयजल आपूर्ति सुचारू होने से मदद मिली

    बैठक में दो महीने पूर्व हाथ में लिए गए 42 सूत्री उपाययोजनाओं पर चर्चा हुई। उसके बाद पांडेय ने पत्रकारों को बताया कि पहले 7 दिन गैप देकर, उसके बाद 5 दिन गैप देकर परंतु अब शहरवासियों को 4 दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति होगी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में हर्सूल तालाब के पानी में बढ़ोतरी हुई है। महानगरपालिका और महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के अधिकारियों के प्रयासों से पेयजल आपूर्ति सुचारू होने में बड़े पैमाने पर मदद मिली है। आषाढ़ी एकादशी 10 जुलाई को है, उसी दिन से शहरवासियों को 4 दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति होगी। पांडेय ने बताया कि पेयजल आपूर्ति में सुधारणा के लिए कई काम जारी है। 30 जुलाई तक यह सभी काम पूरे होंगे। उसके बाद शहर को तीन दिन गैप देकर भी पेयजल आपूर्ति करने का नियोजन किया जाएगा। अंत में  पांडेय ने बताया कि चार दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति शहर के चार हिस्सों को छोड़कर की जाएगी। 

    350 नल कनेक्शन किए गए कट

    बैठक में उपस्थित महानगरपालिका के मुख्य लेखाधिकारी संतोष वाहुले ने बताया कि शहर के मुख्य पाइप लाइन पर 1300 अवैध नल कनेक्शन है। यह बात सर्वे में साफ हो चुकी है। उसमें से 350 नल कनेक्शन कट किए गए है। हर दिन अवैध नल कनेक्शन कट करने की कार्यवाही जारी रेहगी । बैठक में प्रशासक पांडेय ने साफ किया कि अगले आदेश तक शहर की पेयजल आपूर्ति का कामकाज एमबी काजी देखेंगे।