बाघ के हमले में महिला मृत – गोगांव जंगल परिसर की घटना

गड़चिरोली. इंधन की लकडियां चुनने के लिए जंगल में गए महिला पर बाघ ने हमला कर उसे मौत के घाट उतारने की घटना गडचिरोली समिपस्य गोगांव जंगल परिसर में शुक्रवार को दोपहर 2 बजे के दौरान घडी. मृतक महिला का नाम गोगांव निवासी मंजुला चौधरी (62) है. इस घटना से परिसर में व्यापक दहशत निर्माण हुई है. 

प्राप्त जानकारी के अनुसार, गांव के अन्य 6 महिलाओं के साथ मंजुलाबाई चौधरी सुबह के दौरान लकडियां चुनने के लिए गांव समिप के जंगल में गई थी. इस दौरान दोपहर 1 बजे के दौरान मंजुलाबाई पर बाघ ने अचानक हमला किया. इस समय साथ में होनेवाली महिलाओं के चिल्लाने पर बाघ घटनास्थल से भाग गया. मात्र इस हमले में घायल मंजुलाबाई की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. घटना की जानकारी वन विभाग व पुलिस को मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचकर मामले का पंचनामा किया. मृतक के परिवार को वनविभाग तत्काल वित्तीय मदद दे, ऐसी मांग हो रही है. 

सप्ताहभर में दुसरी घटना 

गडचिरोली शहर समिपस्य पोटेगाव, चामोर्शी, धानोरा, आरमोरी मार्ग पर झुडपी जंगल है. इस जंगल परिसर में विगत कुछ दिनों से अनेक नागरिकों को बाघ व तेंदुए का दर्शन हो रहे है. जिससे वनविभाग चारों मार्ग पर फलक लगाकर सतर्कता बरतने की चेतावनी दी है. फिर भी कुछ महिला इंधन की लकडियां चुनने के लिए जंगल में जाते है. सप्ताहभर पूर्व 16 दिसंबर को शहर के इंदिरा नगर की महिला पर चांदाला मार्ग के जंगल परिसर में बाघ ने हमला कर उसे मौत के घाट उतारा था. ऐसे में फिर से गोगांव परिसर में जंगल में बाघ ने फिर से एक महिला की जान ली है. जिससे गडचिरोली वनक्षेत्र में बाघों का विचरण मानवों के लिए घातक बन रहा है. जिससे संबंधित विभाग तत्काल इन बाघों का बंदोबस्त करे, ऐसी मांग हो रही है.