Corona
File Photo

गोंदिया. राज्य में कोरोना के संक्रमण से निपटकर संपूर्ण राज्य कोरोना मुक्त करने के लिए शासन ने कोरोना टेस्ट का प्रमाण बढ़ाने की सूचना हर जिले के स्वास्थ्य विभाग को दी थी. इसके लिए हर दिन कितनी जांच करनी है, इसका लक्ष निर्धारित कर दिया गया है. गोंदिया जिले में हर दिन 3,260 टेस्ट करने का लक्ष दिया गया था, लेकिन प्रत्यक्ष में हर दिन 442 टेस्ट होने की बात सामने आई है. जिले में पिछले कुछ दिनों से कोरोना का प्रभाव कम दिखाई देने की राहत भरी तस्वीर सामने आ रही है. वहीं दूसरी ओर टेस्ट का प्रमाण कम होने से कुछ चिंता कायम है.

वैद्यकीय अधिकारियों को कारण बताओ

राज्य शासन ने हर जिले के लिए 65 प्रश आरटीपीसीआर व 35 प्रश रैपिड एंटीजन टेस्ट करने के लक्ष निर्धारित कर दिए है. इसमें गोंदिया जिले के लिए 3,260 कोरोना टेस्ट करने का लक्ष्य दिया गया है. जबकि गोंदिया तहसील छोड़कर अन्य सभी तहसीलों में इसका प्रमाण नगण्य है. जिससे कोरोना मरीजों की संख्या में घट दिखाई दे रही है. कोरोना का कम प्रमाण में टेस्ट करना स्वास्थ्य विभाग पर कही भारी न पड़ जाए. इसके लिए जिला स्वास्थ्य विभाग व जिला शल्य चिकित्सक ने इस विषय को गंभीरता के साथ लिया है. इतना ही नहीं सभी तहसील वैद्यकीय अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस भी दिया गया है.