Vaccination
File Pic

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) में हुए फर्जी टीकाकरण (Fake Vaccination) का मुंबई हाईकोर्ट (Mumbai High Court) ने गंभीरता से लिया है। हाईकोर्ट ने बीएमसी (BMC) को जबरदस्त फटकार लगाई है। कांदिवली के अलावा मुंबई के अन्य इलाकों में भी फर्जी टीका लगाने की खबर का हाईकोर्ट ने संज्ञान में लिया है। हाईकोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान सनसनीखेज खुलासा हुआ। 

    फर्जी टीकाकरण के संदर्भ में मुंबई के चार अलग-अलग इलाकों में लगाए गए शिविर के खिलाफ चार एफआईआर दर्ज होने की जानकारी सरकारी अधिवक्ता दीपक ठाकरे ने हाईकोर्ट को दी। इसमें 2 हजार 53 नागरिकों को फर्जी वैक्सीन लगा कर फंसाया गया था। 

    9 स्थानों पर फर्जी वैक्सीन लगाने के लिए शिविर का आयोजन 

    मुंबई के कांदिवली, वर्सोवा, खार, बोरिवली इन चार  इलाकों में 9 स्थानों पर फर्जी वैक्सीन लगाने के लिए शिविर का आयोजन किया गया था। बीएमसी ने 23 जून को इसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। यह जानकारी अधिवक्ता अनिल साखरे ने हाईकोर्ट को दी।  पुलिस की तरफ से कोर्ट को जानकारी दी गई कि फर्जी टीकाकरण के एक शिविर का आयोजन बोरीवली के आदित्य कॉलेज में किया गया था। कॉलेज के आशीष मिश्रा का नाम भी एफआईआर में शामिल किया गया है। मनीष त्रिपाठी नामक आरोपी अभी फरार है। 400 लोगों के बयान दर्ज किए गए है। 

    फर्जी टीकाकरण के लिए हेल्पलाइन

    मुंबई में शुरु किए फर्जी टीकाकरण को लेकर पुलिस सक्रिय हो गई है। पुलिस ने कहीं भी इस तरह का टीकाकरण का संदेह होने पर सूचना देने के लिए हेल्पलाइन नंबर 22625020, 22627983, 22623054 अथवा 100 नंबर पर डायल करने का आह्वान किया है।