Kirit Somaiya

    मुंबई. भाजपा (BJP) के पूर्व सांसद किरीट सोमैया (Former MP Kirit Somaiya) ने अब महाराष्ट्र विकास आघाड़ी सरकार में ग्राम विकास मंत्री हसन मुश्रिफ (Minister Hassan Mushrif) पर करप्शन (Corruption) का बम फोड़ा है। उन्होंने मुश्रिफ पर मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) और बेनामी संपत्ति जमा करने का आरोप लगाते हुए 127 करोड़ रुपए घोटाले का आरोप लगाया है। 

    सोमैया ने कहा कि यह आंकड़ा बढ़ने की संभावना है। उन्होंने कहा कि इस घोटाले में न केवल मुश्रिफ बल्कि उनका पूरा परिवार शामिल है। सोमैया ने मुश्रिफ के बेटे और उनकी पत्नी साहिरा मुश्रिफ पर भी आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मुश्रिफ और उनके परिवार ने मनी लॉन्ड्रिंग, हवाला ट्रांजैक्शन और मुखौटा कंपनियों के जरिए 127 करोड़ रुपए का ट्रांजैक्शन किया है। 

    इनकम टैक्स विभाग को दिया घोटाले का पूरा सबूत

    सोमैया ने कहा कि मैंने इस घोटाले का पूरा सबूत इनकम टैक्स विभाग को दिया है, जो तकरीबन 2700 पन्नों का है। उन्होंने मुश्रिफ के ऊपर सीआरएम सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड नाम मुखौटा कंपनी के जरिए घोटाले का आरोप लगाया है। सोमैया ने कहा कि प्रवीण अग्रवाल सीआरएम सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के संचालक हैं। हसन मुश्रिफ के बेटे नवीद ने उसी कंपनी से 2 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है। साल 2017-18 में इसी कंपनी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। सोमैया ने कहा कि मुश्रिफ की पत्नी साहिरा हसन मुश्रिफ के नाम पर संताजी घोरपड़े शुगर मिल में 3 लाख 78 हजार के शेयर दिखाए गए है। उन्होंने कहा कि वे इस घोटाले के सारे सबूत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी ) के अलावा वित्त मंत्रालय को भी जांच के लिए देंगे। जुलाई, 2019 इनकम टैक्स विभाग ने मुश्रिफ के घर और उनके फैक्ट्री पर छापा मारा था।  

    किरीट सोमैया के आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद हैं। राजनीति में इमेज बनाने में कई साल लग जाते हैं। ऐसे में इस तरह के आधारहीन आरोप लगा कर सोमैया ने मेरी छवि को ठेस पहुंचाया है। मैं, उनके खिलाफ अदालत में 100 करोड़ की आपराधिक मानहानि का दावा ठोकूंगा।

    - हसन मुश्रिफ, ग्राम विकास मंत्री