chandrakant-patil

    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में राज्यसभा (Rajya Sabha) की एक सीट पर होने वाली उपचुनाव के लिए बुधवार (Wednesday) को कांग्रेस की ओर से रजनी पाटिल (Rajni Patil) और बीजेपी (BJP) की ओर से संजय उपाध्याय (Sanjay Upadhyay) ने अपना पर्चा भरा।

    रजनी के नामांकन के समय महाविकास आघाड़ी के प्रमुख नेताओं ने मौजूद रह कर अपनी एकजुटता का परिचय दिया। मौके पर राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने कहा कि क्योंकि महाविकास आघाड़ी के पास पूर्ण बहुमत है, इसलिए रजनी पाटिल का बहुमत से चुना जाना तय है। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले, शिवसेना नेता और शहरी विकास मंत्री एकनाथ शिंदे, पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, ऊर्जा मंत्री डॉ. नितिन राउत, पशुपालन मंत्री सुनील केदार, एआईसीसी सचिव और महाराष्ट्र के सह प्रभारी विधायक आशीष दुआ, मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष भाई जगताप व प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंढे समेत कई नेता उपस्थित थे।

    संजय उपाध्याय के साथ पाटिल समेत कई नेता रहे मौजूद 

    बीजेपी उम्मीदवार संजय उपाध्याय के नामांकन के समय प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, विधान परिषद में नेता विपक्ष प्रवीण दरेकर,मुंबई बीजेपी अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा और विधायक विद्या ठाकुर समेत कई नेता मौजूद थे।

    रजनी का पर्चा होगा खारिज 

    बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि कांग्रेस उम्मीदवार रजनी पाटिल के खिलाफ कुछ  आपत्तियां हैं। उन्होंने दावा किया कि जांच के दौरान रजनी का पर्चा खारिज हो जाएगा। हालांकि, पाटिल ने यह बताने से इंकार कर दिया कि रजनी के खिलाफ आपत्तियां क्या हैं। पाटिल ने कहा कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है। जब 56 विधायक वाले मुख्यमंत्री बने हैं और 54 वाले उपमुख्यमंत्री और 44 वाले राजस्व मंत्री बन सकते हैं तो हमारे पास 119 विधायक हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि यदि निर्दलीय का समर्थन मिलता है तो हमारा आंकड़ा 127 या 128 तक पहुंच सकता है और हमारे उम्मीदवार संजय उपाध्याय राज्यसभा के लिए चुने जा सकते हैं।