Gutter water spreading on the road, matter in front of Nagpur railway station
File Photo

    • जहां बह रहा गंदा पानी, वहीं हैं खाने-पीने की दूकानें 

    नागपुर. रेलवे स्टेशन से शहर की ओर जाने वाली सड़क बीते दो महीने से बेहाल है. इस सड़क पर गटर का गंदा पानी निरंतर बह रहा है. यह पानी स्टेशन के पास से होकर टेकड़ी गणेश मंदिर परिसर तक पहुंच रहा है. दिनभर में स्टेशन से सवारियां लेकर कई टैक्सियों के साथ निजी और सरकारी वाहन के साथ पैदल लोग भी इस रास्ते से गुजरते हैं लेकिन इसके बाद भी इस बहते गटर के पानी को बंद करने का प्रयास किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने नहीं किया.

    स्थानीय दूकानदारों का कहना है कि उन्होंने मनपा के जिम्मेदार अधिकारियों को इस मामले की शिकायत दर्ज कराई है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है. बता दें कि जिस सड़क पर ये गंदा पानी बह रहा है वहीं से सड़क के दूसरी ओर चंद कदमों की दूरी पर खाने पीने की दूकानें हैं. वैसे तो यहां मिल रही खाघ सामग्री की क्वालिटी पर हमेशा सवाल उठते आए हैं लेकिन अब गटर के पानी से फैली गंदगी से उठकर गई मक्खियां और मच्छर लोगों को बीमार कर सकते हैं. स्थानीय दूकानदारों के अनुसार यह पानी करीब दो महीने से ऐसे ही बह रहा है. 

    फिसलकर गिरते हैं वाहन चालक

    सड़क पर फैले इस गटर के पानी से सड़क पर गंदगी जमा हो जाती है. इस कीचड़ में कई दोपहिया वाहन फिसल जाते हैं. जिससे कई लोगों को चोट भी आई है. इसके साथ ही यहां से गुजरने वाले लोग गटर के पानी से निकली बदबू से बेहद परेशान हैं. इसके साथ ही यहां कूड़े के जगह-जगह लगे ढेर भी आम यात्रियों की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं. स्टेशन से पैदल इस रास्ते पर आने वाले लोगों की मांग है कि मनपा को इस मामले को गंभीरता से लेकर इस समस्या को हल कराना चाहिए क्योंकि यहां प्रतिदिन 5,000 से ज्यादा लोग इस रास्ते से गुजरते हैं, जिन्हें काफी तकलीफ होती है.