Super Specialty Hospital Nagpur
File Photo

Loading

नागपुर. जन्म से ही छोटी अन्न व श्वास नलिका की बीमारी से जूझ रही मांढल की रहने वाली 3 वर्षीय बालिका को सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने नया जीवन दिया. भूमिका काटोले खेलते हुए जामुन खा रही थी. तभी अचानक जामुन की गुठली अन्न नलिका में जाकर फंस गई. पहले से ही छोटी अन्न व श्वास नलिका होने से उसे श्वास लेने में दिक्कतें आने लगीं. पिता देवीदास ने तुरंत सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लेकर आये.

डॉक्टरों ने जांच की तो पता चला कि अन्न नलिका में जामुन की गुठली के साथ ही मूंगफली का भी दाना अटका हुआ है. बालरोग शल्यचिकित्सक डॉ. राजेंद्र सावजी, गॅस्ट्रोएन्टेरोलॉजी डॉ. अमोल समर्थ ने श्वास नलिका में आधुनिक एंडोस्कोपी से गुठली और मूंगफली का दाना बाहर निकाला. इसके बाद उसे श्वास लेने में आसानी हुई.

सुपर स्पेशलिटी में इससे पहले भी अन्न नलिका में फंसी हेयर पिन, सिक्का, मटन का टुकड़ा बाहर निकालने का सफल उपचार किया गया है. इस तरह के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अधिष्ठाता डॉ. राज गजभिये ने मरीजों को और बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 1.5 करोड़ की आधुनिक हाई डेफिनेशन(4. के) एंडोस्कोप मंजूर किया है. इसकी खरीदी प्रक्रिया शुरू हो गई है, जल्द ही यह उपकरण सुपर को मिल सकेगा.