केंद्र के 550 करोड़ से होंगे मालेगांव के विकास कार्यों : सांसद डॉ. सुभाष भामरे ने दी जानकारी

    मालेगांव : धुलिया लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मालेगांव शहर (Malegaon City) और उसके आसपास के विभिन्न विकास कार्यों (Development Works) के लिए केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से 550 करोड़ रुपये (Rs 550 Crore) से अधिक की राशि उपलब्ध कराई गई है। पूर्व केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री और सांसद डॉ. सुभाष भामरे (MP Dr. Subhash Bhamre) ने यह जानकारी दी है। उन्होंने एकता जिमखाना के परिसर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस और बीजेपी कार्यकर्ताओं (BJP Workers) की बैठक में वीडियो पोस्ट (Video Post) कर योजनाओं (Schemes) और फंड (Funds) की जानकारी दी। मंच पर बीजेपी युवा नेता अद्वैत हिरे, सुनील गायकवाड़, तहसील अध्यक्ष नीलेश कछवे, नगर अध्यक्ष मदन गायकवाड, गजेंद्र अम्पालकर, दादा जाधव, लकी गिल, हरिप्रसाद गुप्ता मौजूद थे। 

    डॉ. भामरे ने कहा कि हमने लोकसभा चुनाव में किए अपने वादों और वादों को निभाने के लिए ईमानदारी से प्रयास किए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के कारण काम में दो वर्ष की देरी हुई है, फिर भी, शहर और उसके परिवेश को बदलने वाले विकास कार्यों को मंजूरी दी गई है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जब धुलिया का दौरा किया था, तो उन्होंने मालेगांव शहर के चक्कर सड़क के किनारे चालीसगांव फाटा में फ्लाईओवर के लिए धन की मांग की थी।  दभड़ी-भयागांव-कुसुम्बा रोड-फुलेनगर, धुलिया रोड के तहत मालेगांव सिटी डायवर्जन रोड के लिए 275 करोड़ रुपये, चालीसगांव फाटा में फ्लाईओवर के लिए 40 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। सांसद ने बताया कि विकास कार्य शीघ्र ही शुरू किए जाएंगे। 

    मालेगांव शहर में विकास कार्यों सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा

    डॉ. भामरे ने बताया कि राज्य के सिर्फ 11 गांवों को नदी संरक्षण के लिए फंड मिला है। मालेगांव और धुलिया निर्वाचन क्षेत्र के दो गांव हैं। हम कृषि सिंचाई सहित बागलाण तहसील की पानी की समस्या को हल करने में सफल रहे हैं। नर-पार योजना का सर्वे हो चुका है, इसके लिए तलाश की जा रही है, इसके साथ ही मालेगांव नामपुर सीमेंट रोड को मंजूरी दे दी गई है। बोरविहिर धुलिया-नरदाना रेलवे लाइन के पहले चरण का काम शुरू हो गया है। मालेगांव धुलिया काम का दूसरा चरण है। उन्होंने बताया कि हमारी प्राथमिकता निकट भविष्य में शहर के लिए पीएनजी गैस पाइपलाइन पर काम करना है। नदी सुधार और बाईपास की लंबे समय से लंबित मांग को मंजूरी दे दी गई है। यह शहर और उसके परिवेश में बीजेपी पदाधिकारियों की खोज और लोगों के आशीर्वाद से संभव हुआ। डॉ. भामरे ने बताया कि मालेगांव शहर में विकास कार्यों के लिए वर्ष 2022 सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा।