cold
Representative Pic

    नाशिक : महानगरपालिका चुनाव (Municipal Corporation Election) की वजह से राज्य (State) का राजनीतिक तापमान (Political Temperature) काफी गर्म है। नाशिक में पारा 13.6 डिग्री तक नीचे चला गया है। 

    दूसरी तरफ नाशिक (Nashik) के निफाड तालुका का न्यूनतम पारा और लुढ़कने से कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। निफाड़ तालुका में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री (Degree) सेल्सियस दर्ज किया गया है। अचानक से ठंड बढ़ने लगी है। इसकी वजह से खासकर रात और सुबह के वक्त कंपकंपी महसूस होने लगी है। नाशिक के आसपास के भागों में भी पारा काफी तेजी से  लुढ़का है। 

    उत्तर भारत से आई ठंडी हवा का असर जिले में दिखने लगा है।  दो सप्ताह पहले हुई बेमौसमी बारिश के बाद जो ठंड शुरु हुई थी वह ठंडी एक बार फिर से वापस लौट आई है। सप्ताह भर में जिले के तापमान में दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। शनिवार को न्यूनतम तापमान 13.6 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि अधिकतम तापमान 28.2 डिग्री था।  

    महाराष्ट्र के अधिकतर जिलों का तापमान गिर गया है

    हिमाचल प्रदेश के कुछ भागों में बर्फबारी हो रही है। इसकी वजह से हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और लद्दाख का तापमान गिरकर शून्य पर पहुंच गया है। इसका असर देश के कई राज्यों में ठंडी हवा के रूप में देखने को मिल रहा है। उत्तर की तरफ से आ रही ठंडी हवाओं की वजह से महाराष्ट्र के अधिकतर जिलों का तापमान गिर गया है। इस ठंडी हवा की वजह से महाराष्ट्र और गुजरात का तापमान 3 से 4 डिग्री तक  नीचे जाने की संभावना जताई गई है।

    मौसम विभाग की माने तो पारा और नीचे लुढ़केगा

    शनिवार से ठंड बढ़ने की शुरुआत हुई है। तापमान के और गिरने की संभावना है। सप्ताह की शुरुआत में 13 दिसंबर को 15.8 डिग्री तापमान दर्ज किया गया था। उसके बाद से लगातार तापमान में गिरावट देखा जा रहा है। शनिवार को इसमें और 2 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। अगले पांच दिन मौसम इसी तरह शुष्क रहने का अनुमान मौसम विभाग ने लगाया है। मौसम विभाग की माने तो पारा और नीचे लुढ़केगा।