विधायक महेश लांडगे की ब्रांडिंग से राष्ट्रवादी आहत, महानगरपालिका कमिश्नर  ने जन्मदिन के फ्लैक्स हटाने के दिए आदेश

    पिंपरी : सालगिरह (Anniversary) के उपलक्ष्य (Celebration) में पिंपरी चिंचवड (Pimpri Chinchwad) भाजपा के शहराध्यक्ष और विधायक महेश लांडगे (Mahesh Landge) के समर्थकों (Supporters) ने पूरे शहर में फ्लैक्सबाजी कर जोरदार शक्ति प्रदर्शन किया है। इस दौरान तब खलबली मच गई जब महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल ने लांडगे के फ्लैक्स हटाने के आदेश दे दिए और उसके अनुसार कल शाम से ही कार्रवाई शुरू की गई।

    महानगरपालिका की सत्तारूढ़ से भाजपा के अध्यक्ष के फ्लैक्स हटाने की कार्रवाई से खलबली मच गई है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि जन्मदिन के उपलक्ष्य में जारी शक्ति प्रदर्शन और महेश लांडगे की ब्रांडिंग से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी आहत हुई है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के दबाव में ही महानगरपालिका कमिश्नर ने यह आदेश जारी किया है।

    पिंपरी चिंचवड महानगरपालिका चुनाव में महज तीन महीने की दूरी है। सत्तारूढ़ भाजपा के शहर अध्यक्ष के रूप में विधायक लांडगे के समर्थकों ने भोसरी विधानसभा क्षेत्र सहित पूरे शहर में विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों, मनोरंजन कार्यक्रमों और गतिविधियों की झड़ी लगा दी है। चुनाव नजदीक आने के साथ ही भाजपा ने मजबूत माहौल बना दिया है। पिछले 15 दिनों से आयोजन की धूल उड़ रही है। इस बीच, स्थानीय राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता, जो लांडगे के जन्मदिन पर भाजपा के शक्ति प्रदर्शन से परेशान थे, वे इस मामले को मुंबई ले गए है।

    भाजपा नेताओं और पार्षदों की मुश्किलें बढ़ाने की कोशिशें की जा रही है

    इसलिए मुंबई के नेताओं ने महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल को ”विशेष निर्देश” दिए है। इसके मुताबिक अब महानगरपालिका कमिश्नर ने लांडगे समर्थकों और भाजपा कार्यकर्ताओं के ‘बैनर-फ्लैक्स’ को हटाने की भूमिका निभाई है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि, महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल महाविकास अघाड़ी की कठपुतली बनकर काम कर रहे है। जब भाजपा का माहौल बनता है तो प्रशासनिक दिक्कतें पैदा कर भाजपा नेताओं और पार्षदों की मुश्किलें बढ़ाने की कोशिशें की जा रही है।

    शिष्टाचार का पालन नहीं किया गया

    छत्रपति संभाजी राजे के दौरे के दौरान महानगरपालिका का कोई अधिकारी मौजूद नहीं था। शिष्टाचार का पालन नहीं किया गया। दरअसल, भाजपा को किसी पहल या कार्यक्रम का ‘क्रेडिट’ नहीं मिलना चाहिए। क्या महानगरपालिका कमिश्नर महाविकास आघाड़ी के इशारे पर इसके लिए काम कर रहे हैं? यह सवाल भाजपा कार्यकर्ता उठा रहे है। विधायक महेश लांडगे के जन्मदिन की बॉन्डिंग और भोसरी समेत पिंपरी-चिंचवड में हुए आयोजनों पर मिली प्रतिक्रिया को देखकर शहर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पैरों तले जमीन खिसकने लगी है। इसलिए विधायक लांडगे की फ्लेक्स हटाने की योजना प्रशासन ने बनाई है।

    वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों में गुस्सा भी जताया जा रहा है। ऐसे में निकट भविष्य में भाजपा और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के बीच संघर्ष बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। बहरहाल विधायक लांडगे ने अपने समर्थकों से अपील की है कि वे अपने फ्लैक्स खुद हटा लें। आखिरकार कार्रवाई करनेवाले महानगरपालिका अधिकारी और कर्मचारी पिंपरी चिंचवडकर ही है।