sanjay raut
सांसद संजय राउत

Loading

संजय राऊत का बीजेपी पर तीखा हमला
पुणे: अगर नरेंद्र मोदी दोबारा सत्ता में आए, तो देश में लोकतंत्र खत्म हो जाएगा। 2024 के बाद देश में कोई बीजेपी नहीं बचेगी। शिवसेना सत्ता में होगी, पुणे से शिवसेना के कम से कम 3 विधायक जीतेंगे, यह शिवसेना की गारंटी है। वहीं पुणे का अगला सांसद बीजेपी से नहीं बनने देंगे, ऐसी चेतावनी ठाकरे समूह के सांसद संजय राऊत ने दी। साथ ही कहा कि बालासाहेब ठाकरे ने मुझे जो भाषा सिखाई वह महाराष्ट्र के संतों की भाषा है। 2024 के बाद पनौती जाएगी, ऐसी आलोचना राऊत ने की। 

नाना पेठे के अहिल्या आश्रम मैदान में ठाकरे समूह की सभा का आयोजन किया गया था। उस वक्त सांसद संजय राउत बोल रहे थे। उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। संजय राउत ने कहा, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना को शिल्लक सेना कहा था। अगर उन्हें शिल्लक सेना देखना है, तो इस सभा की भीड़ देंखे। अगर ये शिल्लक सेना है, तो उनके पास केवल कचरा गया है। शिवसेना एक महासागर है। देवेंद्र फडणवीस को मैदान में आना चाहिए, शिवसेना पुणे के मैदान में उतर चुकी है, ऐसी खुली चुनौती राऊत ने दी। 

राज्य के युवाओं को बर्बाद कर रही गुजरात लॉबी- राऊत 

महाराष्ट्र के उद्योग गुजरात जा रहे हैं, गुजरात से ड्रग्स महाराष्ट्र आ रहा है। राज्य के युवाओं को बर्बाद करने की पैरवी गुजरात की लाॅबी कर रही है। पुणे ड्रग्स, वेश्यावृत्ति और जुए के लिए जाना जा रहा है। जिस शहर पुणे ने सबको पढ़ना-लिखना सिखाया, उसे हम नशे से बर्बाद होते नहीं देख सकते। इन ठिकानों को हम नष्ट करेंगे, ऐसे शब्दों से संजय राऊत ने बीजेपी पर हमला किया। 

इकबाल मिर्ची मामले में पटेल पर कार्रवाई क्यों नहीं- राऊत 
ड्रग्स माफिया ललित पाटिल मामले में शिंदे समूह के दो मंत्री शामिल हैं, उनके नाम भी लोगों को पता है। जब युवाओं को ड्रग्स के जरिए बर्बाद किया जा रहा है, गृहमंत्री देवेंद्र फडणवीस आप क्या कर रहे हैं। दाऊद से संबंध होने के कारण आपने नवाब मलिक के खिलाफ कार्रवाई की। लेकिन अमित शाह ने प्रफुल्ल पटेल पर इकबाल मिर्ची से 450 करोड़ की जमीन खरीदने का आरोप लगाया। आप उन्हीं पटेल के चक्कर में पड़ रहे हैं। मलिक के खिलाफ कार्रवाई हुई, तो पटेल के ख़िलाफ़ क्यों नहीं। ये सवाल राऊत ने फडणवीस से पूछा है.

अंधविश्वास और अंधभक्ति देश को डुबो देगी 
5 राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए। माहौल बीजेपी के खिलाफ था। लेकिन ईवीएम खुल गया। मध्य प्रदेश, राजस्थान में बीजेपी की लहर के बिना ही बीजेपी सत्ता में आ गई। यदि आप में हिम्मत है, तो एक बार बैलेट पेपर पर चुनाव कराएं। उसके बाद जो परिणाम आएगा उसे पूरा देश स्वीकार करेगा। नरेंद्र मोदी लोगों को बेवकूफ बनाकर प्रधानमंत्री बने हैं। राउत ने कहा, अंधभक्ती और अंधविश्वास देश को डुबो देगा। 

कार्रवाई की गारंटी का क्या हुआ
बीजेपी ने कहा था कि हम भ्रष्टाचार से जुड़े लोगों को फांसी देंगे। इस गारंटी का क्या हुआ? प्रफुल्ल पटेल, अजित पवार, भावना गवली, राहुल शेवाले, प्रताप सरनाईक के खिलाफ ईडी कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है? अरब सागर में शिवाजी महाराज के स्मारक का क्या हुआ? ऐसा सवाल पूछते हुए संजय राउत ने ‘मोदी मतलब गारंटी’ वाले कैंपेन का मजाक उड़ाया।