महंगाई, बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का आंदोलन

    भिवंडी : भारी महंगाई (Inflation), बेरोजगारी (Unemployment) और कांग्रेस (Congress) शीर्ष नेताओं पर ईडी (ED) द्वारा की जा रही अनायास कार्यवाही को लेकर भिवंडी में कांग्रेस जिला अध्यक्ष एड रशीद ताहिर की अगुवाई में मोर्चा निकालकर केंद्र सरकार (Central Government) के खिलाफ नारेबाजी की गई। 

    कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल द्वारा प्रांत अधिकारी बालासाहेब बाघचौरे को निवेदन पत्र सौंपा गया। उक्त अवसर पर प्रदेश कांग्रेस महासचिव मो. तारिक फारुकी, पूर्व सांसद सुरेश टावरे, वरिष्ठ कांग्रेस नेता आबिद मुंसफ, पूर्व नगरसेवक शकील पापा, पूर्व महिला अध्यक्ष रेहाना अंसारी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता रुखसाना कुरेशी, युवा नेता माझ फारुकी, जावेद फारुकी सहित कांग्रेस पदाधिकारी, नगरसेवक, कार्यकर्ता भारी तादाद में मौजूद थे। 

    महंगाई चरम पर बेरोजगारी चरम पर

    गौरतलब हो कि कांग्रेस पार्टी द्वारा समूचे देश में महंगाई, बेरोजगारी और केंद्र सरकार के इशारे पर ईडी द्वारा शीर्ष कांग्रेस नेताओं पर की जा रही छापेमारी  के विरोध में मोर्चा निकालकर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ नारेबाजी की गई। प्रदेश कांग्रेस महासचिव तारिक फारूकी ने कहा कि केंद्र सरकार जनहित मुद्दों की अनदेखी कर रही है। भारी महंगाई, बेरोजगारी चरम पर है। मोदी सरकार जनहित मुद्दों को संसद में उठाने वाले कांग्रेस के शीर्ष नेताओं पर ईडी का दबाव बना रही है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और संसद विरोधी पक्ष नेता मलिकार्जुन खड़गे को संसद की कार्यवाही के दौरान ईडी कार्यालय में बुलाकर परेशान किया जा रहा है। केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा कार्य ऐतिहासिक है। कांग्रेस के सभी सिपाही कांग्रेश आलाकमान सोनिया गांधी और राहुल गांधी के पीछे खड़े हैं। केंद्र सरकार के गलत मंसूबे कभी पूरे नहीं होंगे। कांग्रेसी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और महंगाई बेरोजगारी पर ध्यान देने की मांग की।