NMMC Commissioner Rajesh Narvekar

Loading

नवी मुंबई: ‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2023’ (Swachh Survekshan 2023) के तहत नवी मुंबई महानगरपालिका (Navi Mumbai Municipal Corporation) क्षेत्र में स्वच्छता को लेकर दिए गए निर्देशों के क्रियान्वयन को देखने के लिए नवी मुंबई महानगरपालिका कमिश्नर राजेश नार्वेकर (NMMC Commissioner Rajesh Narvekar) ने विभागवार दौरा शुरू किया है। अपने इस अभियान के तहत उन्होंने दीघा (Digha) और ऐरोली विभाग के विभिन्न हिस्सों का दौरा कर शहर में सफाई की वर्तमान स्थिति का निरीक्षण किया।

नवी मुंबई महानगरपालिका कमिश्नर नार्वेकर द्वारा नवी मुंबई के दक्षिणी छोर दीघ से उक्त निरीक्षण दौरे की शुरुआत की गई। इस दौरान महानगरपालिका कमिश्नर ने ईश्वर नगर में ठाणे महानगरपालिका और नवी मुंबई महानगरपालिका के बीच की सीमा रेखा पर सड़कों की सफाई का निरीक्षण किया। 

महानगरपालिका कमिश्नर ने दिए ये निर्देश

इस मौके पर महानगरपालिका कमिश्नर ने सफाई कर्मियों को निर्देश दिए कि स्वच्छता में जैसा सुधार शहरों की मुख्य सड़कों में दिख रहा है, वैसा ही सुधार स्लम एरिया में भी होना चाहिए। स्लम क्षेत्रों में घर से निकलने वाले गीले और सूखे कचरे के वर्गीकरण को बढ़ाने के लिए महानगरपालिका कमिश्नर ने सुझाव दिया। उन्होंने क्षेत्र के अधिकारियों और कर्मचारियों को कचरे के वर्गीकरण के बारे में नागरिकों में जागरूकता फैलाने का निर्देश दिया। इस अवसर पर उनके साथ महानगरपालिका की अतिरिक्त आयुक्त सुजाता ढोले और ठोस कचरा प्रबंधन विभाग की उपायुक्त डॉ. बाबासाहेब राजले मौजूद थे।

सार्वजनिक शौचालयों को साफ-सुथरा रखने का निर्देश

स्लम क्षेत्रों में सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों में प्रात: काल अधिक भीड़ होने को ध्यान में रखते हुए संबंधित स्वच्छता निरीक्षकों को नियमित साफ-सफाई सुनिश्चित करने पर विशेष ध्यान देने का निर्देश महानगरपालिका कमिश्नर ने संबंधित विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को दिया। उन्होंने सार्वजनिक शौचालयों की आवश्यक मरम्मत और उन्हें साफ-सुथरा रखने का आदेश भी दिया। महानगरपालिका कमिश्नर ने सफाई निरीक्षकों को ठाणे-बेलापुर मार्ग की सफाई पर यंत्रचालित वाहन से पैनी नजर रखने के निर्देश दिए। दीघा और ऐरोली क्षेत्र के एमआईडीसी क्षेत्र में सफाई के निरीक्षण के दौरान कई खुले भूखंडों पर मिट्टी के टीले पाए गए, इस संबंध में कमिश्नर ने एमआईडीसी और सिडको के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए उनका ध्यान आकर्षित करने का भी निर्देश दिया।

महानगरपालिका कमिश्नर के दौरे से पूरा सिस्टम अलर्ट

गौरतलब है कि ‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2023’ की दौड़ में नवी मुंबई महानगरपालिका ने सफाई के मामले में देश में नंबर वन बनने का लक्ष्य रखा है। अपने इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए महानगरपालिका ने अधिक गतिशील रूप से काम करना शुरू कर दिया है। इसके सकारात्मक परिणाम वास्तविक शहर की स्वच्छता में देखे जा रहे हैं। शहर में सफाई नियमित रूप से हो रही है कि नहीं इसका निरीक्षण महानगरपालिका कमिश्नर राजेश नार्वेकर खुद कर रहे हैं, जिसकी वजह से महानगरपालिका का  पूरा सिस्टम अलर्ट हो गया है और उक्त काम को करना शुरू कर दिया है। इसका असर नवी मुंबई शहर की सफाई में देखने को मिल रहा है।