MLA Ganesh Naik questioned the functioning of NMMC commissioner

  • अधीनस्थ अधिकारियों पर अंकुश लगाने की मांग

नवी मुंबई. ऐरोली (Areoli) के बीजेपी विधायक गणेश नाईक (BJP MLA Ganesh Naik) ने मनपा कमिश्नर अभिजीत बांगर (Commissioner Abhijeet Bangar) से अपनी 23वीं मुलाकात में खत्म हो रहे कोरोना (Corona) और उसकी वैक्सिन (Vaccine) को लेकर जागरूकता फैलाने पर जोर दिया। गणेश नाईक ने ऐरोली के आंबेडकर स्मारक निर्माण में हो रही देरी और स्वच्छता अभियान के औचित्य पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि सिर्फ पुरस्कारों के लिए स्वच्छता अभियान नहीं चलाया जाना चाहिए, बल्कि गली मुहल्लों में उसका असर दिखना चाहिए। पूर्वमंत्री ने मनपा कमिश्नर की कार्यशैली पर गंभीर सवाल उठाते हुए कहा कि अभिजीत बांगर की नीयत ठीक है, लेकिन अपने अधीनस्थ उच्चाधिकारियों पर उनका कोई कंट्रोल नहीं है। उन्होंने ऐसे अधिकारियों पर अंकुश लगाने की भी मांग की।

पूर्व महापौर सुधाकर सोनावणे, वरिष्ठ नेता दशरथ भगत, जिलाध्यक्ष रामचंद्र घरत समेत तमाम पदाधिकारियों के साथ कमिश्नर से मिलने पहुंचे विधायक गणेश नाईक एक सवाल के जवाब में खुलासा किया कि 15 फरवरी तक नवी मुंबई मनपा के आम चुनाव होने की पूरी संभावना है इसलिए उन्होंने पार्टी के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को तैयार रहने का निर्देश दिया है।

गवते पर एफआईआर राजनैतिक दबाव में

गणेश नाईक ने दिघा के निवर्तमान नगरसेवक नवीन गवते का बचाव करते हुए कहा कि उनके खिलाफ अवैध मकानों को लेकर वार्ड अधिकारी ने जो एफआईआर दर्ज करायी है वह राजनीतिक दबाव या साजिश दिखती है। उन्होंने सवाल उठाया कि जिस तरह के मामले में नवीन गवते और उनके परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है वैसा निर्माण हजारों लोगों ने किया है, लेकिन वार्ड अधिकारी ने उनके खिलाफ कोई केस नहीं किया है। आखिर क्यों? गणेश नाईक ने यह भी कहा कि उनके नजदीकी कार्यकर्ताओं पर जुल्म हो रहा है, लेकिन वे इससे और मजबूत होंगे और जनता के लिए और मजबूती से काम करेंगे।