Ulhasnagar Municipal Corporation

    उल्हासनगर : उल्हासनगर महानगरपालिका मुख्यालय (Ulhasnagar Municipal Corporation Headquarters) में सोमवार को एक निजी ठेका कंपनी (Contract Company) के दो लोगों द्वारा लेखा विभाग (Accounts Department) के एक क्लर्क (Clerk) के साथ मारपीट (Fighting) करने का मामला सामने आया था, लेकिन लेखा विभाग की सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) सामने आने के बाद इस मामले ने एक अलग मोड़ (Different Turn) ले लिया है। सोमवार को हुए इस विवाद में ठेकेदार कंपनी से जुड़े लोगों पर पहले लिपिक संदीप बिड़लान ने ही हाथ उठाया था। इसलिए अब यह चर्चा हो रही है कि महानगरपालिका का लिपिक इस मामले को कुछ अलग मोड़ देने की कोशिश कर रहा है।       

    उल्हासनगर महानगरपालिका के लेखा विभाग में कार्यरत क्लर्क संजय बिड़लान (Sandeep Birlan) की सोमवार को संजय चांदवानी (Sanjay Chandwani) और अजय चांदवानी (Ajay Chandwani) ने पिटाई कर दी। दोनों काम के बिल बनवाने के लिए जमा कराए गए दस्तावेजों की फाइल की जानकारी लेने लेखा विभाग गए थे। उस समय मौखिक बातचीत कहासुनी लड़ाई में बदल गई थी। इसके बाद उन दोनों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले के बाद एक तरफ जहां अधिकारी-कर्मचारी महानगरपालिका के ठेकेदारों के प्रति अपना गुस्सा जाहिर कर रहे है, वहीं दूसरी तरफ इसमें एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यह पूरी घटना उल्हासनगर महानगरपालिका मुख्यालय की दूसरी मंजिल पर लेखा विभाग में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। तस्वीर सामने आने के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि पहले क्लर्क संदीप बिड़लान ने ही ठेकेदारों पर हाथ उठाया है। महानगरपालिका प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि इस संबंध में जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।