Atul Vandile in NCP

    गिरड (सं). मनसे के कद्दावर नेता व राज्य उपाध्यक्ष रहे अतुल वांदिले ने गुरुवार को पार्टी प्रमुख शरद पवार की उपस्थिति में राकां की घड़ी पहन ली. मुंबई स्थित पार्टी कार्यालय में अतुल वांदिले सहित समुद्रपुर मनसे तहसील अध्यक्ष, गिरड के उपसरपंच ने राकां में प्रवेश किया़  अतुल वांदिले के प्रवेश से विदर्भ में मनसे को बढ़ा झटका लगा है.  

    दूसरी ओर क्षेत्र में राकां की ताकद भी बढ़ गई है़ परंतु उनके प्रवेश से राकां पार्टी के भीतर कुछ नेता व पदाधिकारियों की मुश्किलें बढ़ सकती है.हिंगनघाट-समुद्रपुर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में राजनीतिक उथल-पुतल चल रही है़ कुछ माह पूर्व शिवसेना के उपनेता व पूर्व राज्यमंत्री अशोक शिंदे ने कांग्रेस का हाथ थामा था.

    वहीं हाल ही में राकां के पूर्व विधायक राजू तिमांडे के कांग्रेस प्रवेश पर चर्चा उठने लगी, परंतु तिमांडे ने इस चर्चा पर पूर्णविराम लगा दिया़  आखिरकार अतुल वांदिले ने 12 जनवरी को पार्टी छोड़ने का निर्णय ले लिया़ 13 जनवरी को शरद पवार की उपस्थिति में पार्टी में प्रवेश लिया.

    तबेले में खेती नहीं होती : वांदिले

    तबेले में फसल नहीं उगती. अब राकां की खेती में बाग उगाएंगे, ऐसी प्रतिक्रिया पार्टी प्रवेश के बाद अतुल वांदिले ने दी़  अतुल वांदिले सहित मनसे के जिला उपाध्यक्ष सुभाष चौधरी, तहसील अध्यक्ष नीलेश खाटीक, गिरड के उपसरपंच मंगेश गिरडे ने भी राकां में प्रवेश कर लिया़ इस प्रसंग पर राकां के प्रदेशाध्यक्ष जयंत पाटील, उपमुख्यमंत्री अजित पवार, राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष सांसद फौजिया खान, राष्ट्रीय प्रवक्ता तथा अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक, राज्यमंत्री संजय बनसोडे, विधायक संदीप क्षीरसागर, विधायक बाबाजानी दुर्राणी आदि उपस्थित थे.