Representational Pic
Representational Pic

  • ठंड में सावधानी बरतने से बीमारियां रहेगी दूर, डाक्टर की सलाह पर करें अमल

वर्धा. ठंड की शुरूआत हो चुकी है़ इस मौसम में बच्चों में कई तरह की बीमारियों होने की आशंका रहती है, जबकि बुजुर्गों को भी इस समय सावधानी बरतने की आवश्यकता है़ शुरूआती ठंड को अक्सर लोग नजरअंदाज करते हैं, जबकि इस समय सावधानी बरतना लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

खाने में पत्तेदार सब्जियों का करें उपयोग 

डाक्टर बताते हैं कि ठंड से होने वाली बीमारियों में सावधानी ही बचाव का एक मात्र उपाय है़ ठंड के मौसम में सुबह और शाम गर्म कपड़े पहनकर ही बाहर निकलना चाहिए़  ज्यादा से ज्यादा पानी पीए. खाने में ज्यादा से ज्यादा हरी पत्तेदार सब्जियों का उपयोग करें. दूध पीने वाले बच्चों को नियमित अंतराल पर दूध दें. गर्म और ताजा खाना ही खाए. चिकित्सकों की सलाह से हम बीमारी से दूर रह सकते है.  

उपचार में किसी भी तरह से न करें देरी

ठंड के मौसम में सर्दी, खांसी, अस्थमा की शिकायतें होती है, जिन्हें दमा की शिकायत है, वह पेशंट पम्प नियमित रूप से अपने साथ रखे़  कोविड तथा पोस्ट कोविड होकर घर लौटे मरीजों को ठंड से स्वास्थ्य को खतरा है़  इस मौसम में संतुलित आहार का सेवन करें, ताकि इम्युनिटी बढ़ने से खतरा टल जाएगा़  साथ ही गर्म कपड़ों का भी इस्तेमाल करें. कोरोना की तीसरी लहर का खतरा जताया जा रहा है़  ऐसे में ठंड से बचना चाहिए़  सर्दी, खांसी होने के बाद कोविड रिपोर्ट पाजिटिव आने का डर बना रहता है़  अगर किसी भी प्रकार की सांस लेने में दिक्कत हो तो तुरंत चिकित्सक की सलाह लेकर इलाज लेना चाहिए, इलाज में देरी से स्वास्थ्य बिगड़ने की संभावना रहती है.

-डा‍.सचिन अग्रवाल, एमडी मेडिसीन

सावधानी बरतने से स्वास्थ्य होगा बेहतर

ठंड के मौसम में बच्चों को सर्दी, खांसी होती है़  अगर सर्दी जल्द ठीक नहीं हुई तो न्यूमोनिया, अस्थमा हो सकता है़  इससे बच्चों को सर्दी होने पर तत्काल चिकित्सकों की सलाह के अनुसार इलाज लेना जरूरी है़  इस मौसम में बच्चों को ठंडे पदार्थ, खट्टे तथा जादा तेल वाले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए़  जबकि बुजुर्गों को ठंड के मौसम में अस्थमा, संधीवात जैसी शिकायतें भी आती है, जिससे ठंड से बचना चाहिए़ बुजुर्गों को इन दिनों सात्विक आहार लेना चाहिए. 

-डा़ सतीश हरणे, जनरल फिजीशियन

वायरल इन्फेक्शन की संभावना

ठंड के मौसम में बच्चों को सर्दी, खांसी, अस्थमा, एलर्जीक शिकायतों की संभावना बढ़ जाती है़  इससे पालकों ने अपने बच्चों का ठंड से बचाव करना जरूरी है़  सर्दी होने पर तुरंत डाक्टर की सलाह लेकर इलाज कराएं. वायरल प्रकोप में भी वृद्धि होगी, जिससे कोरोना प्रतिबंधक नियमों का पालन करना जरूरी है. 

-डा़ सचिन पावडे, बालरोग तज्ञ