Warning of agitation for not paying honorarium

    • अगले माह में राशि वितरण की आशंका

    आसेगांव. शासन को अपना पालक समझने वाले बेसहारा निराश्रित लाभार्थियों को बीते तीन माह से मानधन राशि नहीं मिल पाई है. जिस कारण लाभार्थियों के समक्ष जीवनयापन करने की अनेकों समस्या चुनौतीपूर्ण बनने लगी है. जिसकी गंभीरता से दखल लेकर तत्काल लाभार्थियों के बैंक खातों में राशि जमा करवाए जाने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है. इतना ही नहीं तो किसी प्रकार का खर्च किए जाने का प्रबंध अनेकों लाभार्थियों के पास न रहने से जनजीवन पर गहरा साइड इफेक्ट गिरने लगा है.

    शासन द्वारा अर्थ सहाय योजन अंतर्गत विधवा महिलाओं दिव्यांगो तथा 60 वर्ष की आयु पार करने वाले बेसहारा लाभार्थियों को प्रति माह एक हजार रूपए के अनुसार राशि वितरण बैंको के माध्यम से की जाती है. लेकिन उक्त राशि दो अथवा तीन महीने की एक साथ वितरण कराए जाने से अनेकों लाभार्थी थोड़ा थोड़ा पैसा निकालकर रोजमर्रा की चलने वाले खर्च के लिए इस्तेमाल करते है. लेकिन फिलहाल में बीते अप्रैल माह से किसी भी तरह की कोई मानधन राशि का वितरण नहीं हो पाया है. जिससे लाभार्थियों को बेहद परेशानी सहन करने की दिक्कत आने लगी है. शासन प्रशासन इस गंभीर ईशु पर ध्यान केंद्रित कर राशि वितरण का मैनेजमेंट करें, इस तरह की मांग जोर पकड़ने लगी है. 

    कैसे करें गुजारा ऐसा सवाल हमारा 

    शासन के माध्यम से मिलने वाली मानधन राशि के भरोसे सैंकड़ों लाभार्थियों का जीवन है. पैसे रहने पर ही इनके घर का चूल्हा जलता है. लेकिन तीन महीनों से जिस तरह की दयनीय अवस्था में अनेकों लाभार्थी अपना जीवन बिना अर्थ सहाय के जी रहे है. उनके लिए कैसे करें गुजारा ऐसा सवाल है हमारा जैसी स्थिति बनी हुई है. 

    अगले माह राशि वितरण की आशंका 

    अगस्त माह के पहले अथवा दूसरे सप्ताह में बैंकों में लाभार्थियों के राशि का चेक जमा करवाकर अगले महीने से राशि वितरण की जाने की बात निराधार कार्यालय मंगरुलपीर के एक कर्मचारी ने कही है. जिस कारण अगले माह में लाभार्थियों को इस का लाभ मिलने की संभावना है.